सेक्स रैकेट, बाल यौन शोषण और वूमन ट्रैफीकिंग पर कई फिल्में बन चुकी हैं. 2014 में मशहूर फिल्मकार नागेश कुकनूर भी इसी विषय पर फिल्म ‘‘लक्ष्मी’’ लेकर आए थे. अब इसी विषय पर ‘‘लाइफ आफ पाई’’ जैसी आस्कर अवार्ड विजेता फिल्म के निर्माता तबरेज नूरानी बतौर निर्माता व निर्देशक फिल्म ‘‘लव सोनिया’’ लेकर आए हैं. जिसमें उन्होंने दो बहनों के अगाध प्यार की कहानी के बहाने वूमन ट्रैफीकिंग व देह व्यापार की बदसूरत दुनिया की उस क्रूर व निर्मम सच का चित्रण किया है, जिसे देख इंसान विचलित हो जाता है. यह एक अति डार्क फिल्म है. मगर फिल्मकार तबरेज नूरानी को सारी गंदगी व गरीबी महज भारत में ही क्यों नजर आयी?

COMMENT