हिमेश रेशमिया इस से पहले कुछ फिल्मों में बतौर नायक आ चुका है परंतु सफल नहीं हो सका है. इस फिल्म में उस ने खुद के लिए एक ऐसा किरदार चुना है जो फिल्म में फिट हो सके. इस के लिए उस ने कहानी के नाम पर सस्पैंस थ्रिलर का चुनाव किया है. लेकिन अफसोस, यह सस्पैंस दर्शकों को बांध नहीं पाता. फिल्म की कहानी जानीमानी फिल्म ‘तीसरी मंजिल’ जैसी लगती है, जिस में फिल्म की नायिका की होटल की छत से गिर कर मौत हो जाती है और पुलिस का शक एकएक कर सभी किरदारों पर होता है. यह कहानी 80-90 के दशक जैसी लगती है.

फिल्म की यह कहानी बिखरी हुई है. इस कहानी को निर्देशक संभाल नहीं पाया है. निर्देशक ने ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ की तर्ज पर हीरोइन को जीनत अमान की तरह के गेटअप में कुछ सीन में दिखाया है. फिल्म की इस कहानी को सूत्रधार इरफान से कहलवाया गया है. फिल्म के संवाद अच्छे हैं. अभिनय की दृष्टि से हिमेश रेशमिया ने निराश किया है. हनी सिंह गायक के रूप में तो ठीक लगता है, परंतु अभिनय के मामले में नहीं. दोनों नायिकाएं नई हैं. दोनों ने अपनेअपने हुस्न को एक्सपोज करने की कोशिश की है. फिल्म का गीतसंगीत अच्छा है.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...