कश्मीरी पंडित परिवार में जन्मे मेरठ के इंडियन पौप रौक और प्लेबैक सिंगर कैलाश खेर ने ‘टूटाटूटा एक परिंदा...’ गाने से अपनी पहचान बनाई. उन का शुरुआती दौर काफी संघर्षपूर्ण था. केवल 13 साल की उम्र में उन्होंने घर छोड़ दिया था और अपने संगीत की पहचान बनाने के लिए पहले दिल्ली, फिर मुंबई आए. उन्होंने सूफी संगीत के साथ रौक का फ्यूजन कर जो शैली विकसित की, वह काबिलेतारीफ है.

COMMENT