‘यशराज फिल्मस’ की आदित्य चोपड़ा निर्मित और विजय कृष्ण आचार्य निर्देशित फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ की बौक्स आफिस पर जिस तरह से दुर्गति हुई है, उससे पूरा बौलीवुड सदमे में है. अफसोस की बात यह है कि इस फिल्म को अमिताभ बच्चन और आमिर खान जैसे दिग्गज कलाकार और चार दिन की लगातार मिले दीवाली का अवकाश भी न बचा सका. 340 करोड़ की लागत वाली फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ चार दिन के वीकेंड में महज 117 करोड़ ही कमा सकी. यहां हमें याद रखना पड़ेगा कि फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ का निर्माण करने के साथ साथ वितरण भी स्वयं ‘यशराज फिल्म्स’ ने ही किया है. इस फिल्म को बौक्स औफिस पर उतारने यानी कि सिनेमाघरों में पहुंचाते हुए दर्शकों को ठगने के सारे हथकंडे अपनाए. धार्मिक सोच के अनुसार दीवाली की रात सोना नहीं चाहिए. इसलिए इस फिल्म को दीवाली की रात बारह बजे के बाद ही कई शो रख दिए गए, जिनकी कीमत भी काफी रखी गयी. मुंबई में सिंगल थिएटरों में साढ़े तीन सौ रूपए से सात सौ रूपए तक टिकट के दाम रखे गए. जबकि मल्टीप्लैक्स में पांच सौ रूपए से लेकर 1600 रूपए तक टिकट के दाम रखे गए. यूं तो दिखावे के लिए आमिर खान ने इस तरह टिकट के दाम बढ़ाए जाने पर अपनी नाराजगी भी जाहिर की. फिर भी फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ को डूबने से कोई न बचा सका.

टिकटों के दाम बढ़ाने के बावजूद फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ वीकेंड कलेशन में ‘संजू’, ‘रेस 3’, ‘टाइगर जिंदा है’ का भी मुकाबला नहीं कर पायी. जबकि ‘संजू’, ‘रेस 3’ और ‘टाइगर जिंदा है’ को छुट्टियों का भी फायदा नहीं मिला था.

इस फिल्म ने पहले दिन यानी कि गुरूवार को बाक्स आफिस पर पचास करोड़ कमाए थे. (बौलीवुड का एक सूत्र इस रकम पर सवाल उठा रहा है. इस सूत्र का कहना है कि ‘यशराज फिल्म्स’ ने इस बार पत्रकारों के लिए प्रेस शो नहीं रखा. बल्कि ‘यशराज फिल्म्स’ ने मुंबई व दिल्ली शहर के कुछ पत्रकारों के घरों पर टिकटें भिजवाईं. इन टिकटों की रकम भले ही यशराज फिल्म्स ने चुकाई, पर यह रकम 50 करोड़ रूपये में जुड़ी हुई है.) मगर दूसरे दिन शुक्रवार को यह रकम सीधे 42 प्रतिशत घटकर महज 28 करोड़ रह गई. तीसरे दिन शनिवार को यह रकम घटकर महज 22 करोड़ 75 लाख रूपए और चौथे दिन रविवार को घटकर 16 करोड़़ पचहत्तर लाख पए रही. इस तरह चार दिन के छुट्टी वाले वीकेंड में यह फिल्म महज एक सौ सत्रह  करोड़ पचास लाख ही बटोर सकी. मजेदार बात यह है कि फिल्म के निर्माता के द्वारा दावा किया जा रहा था कि उनकी फिल्म वीकेंड के चार दिन में चार सौ करोड़ रूपए कमा लेगी. इसी लक्ष्य को पाने के लिए टिकट के दाम भी बढ़ाए गए थे. जबकि अमूमन हर फिल्म शुक्रवार को प्रदर्शित होती और छुट्टी का वीकेंड न होने पर भी हर फिल्म शुक्रवार के मुकाबले शनिवार और शनिवार के मुकाबले रविवार को कई गुणा ज्यादा कमाती है. मगर यहां तो सिर्फ गिरावट ही आयी. पांचवें दिन सोमवार को तो सुबह से ही सिनेमाघर खाली पड़े हुए हैं.

इस फिल्म से सबसे बड़ा नुकसान निर्माता के अलावा आमिर खान को हुआ. सोशल मीडिया पर दर्शकों और आमीर खान के प्रशंसकों ने आमिर  खान को कटघरे में खड़ा करते हुए काफी नाराजगी जाहिर की. अपने प्रशंसकों की व्यथा से आहत होकर आमिर खान ने ऐलान कर दिया कि वह कुछ दिन के लिए अभिनय से अवकाश ले रहे हैं. अब यह कितने दिन के लिए होगा, पता नहीं.

ज्ञातब्य है कि हमने इस फिल्म की समीक्षा लिखते हुए पहले ही आगाह कर दिया था कि यह फिल्म सिर्फ दर्शकों को ठगने वाली है. इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है, जिसके लिए दर्शक पैसा व अपना समय बर्बाद करे.

फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ की बाक्स आफिस पर जो दुर्गति हुई है, उससे हर फिल्मकार को सबक लेने के साथ साथ यह समझ लेना चाहिए कि दिग्गज या बड़े स्टार कलाकार भी उस फिल्म को डूबने से नहीं बचा सकते, जिस फिल्म में अच्छी कहानी, अच्छा कंटेंट नही होगा.

विदेशों में भी बुरी हालत

इस फिल्म की विदेशी बाजार में पिछली असफल फिल्मों ‘फैन’ और ‘जब सेजल मेट हैरी’ से भी ज्यादा बुरी हालत रही. अमरीका व कनाडा में आमीर खान के प्रशंसक सर्वाधिक हैं. पर यहां भी यह फिल्म कमा न सकी.

अब तक विदेशी बाजार में वीकेंड में ‘पद्मावत’ ने 10.6 मिलियन डालर, ‘रेस 3’ ने 7.79 मिलियन डालर, ‘संजू’ ने 7.22 मिलियन डालर के मुकाबले ’‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’’ने   5.25 मिलियन डालर ही कमाए.

Tags:
COMMENT