बौलीवुड में अपने बेबाक बयानों के चलते सदा विवादों में घिरे रहने वाले फिल्मकार अनुराग कश्यप केवल फिल्मों से जुड़े लोगों के बारे में ही नहीं बल्कि राजनैतिक व सामाजिक मुद्दों पर भी अपने बयान देने से पीछे नहीं रहते. उनकी इन्हीं आदतों से बौलीवुड में आम धारणा है कि अनुराग कश्यप का विवादों से चोली दामन का साथ है.

हाल ही में केंद्र सरकार ने जब जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त किया, तो अनुराग कश्यप ने इसकी खिलाफत करते हुए ट्वीटर यानी कि सोशल मीडिया पर बहुत कुछ लिखा. अनुराग कश्यप कुछ लिखें और उन्हें ट्वीटर पर उसका जवाब ना मिले, यह तो हो नहीं सकता. इसी के चलते जब जब लोगों ने अनुच्छेद 370 का विरोध करने के लिए ट्वीटर पर ही अनुराग कश्यप को जल्दी गालियां बकी और उनकी बेटी को लेकर कुछ अपशब्द लिखे. तो अनुराग कश्यप तुरंत पुलिस स्टेशन पहुंच कर पुलिस में एफआर आई दर्ज करवाई. लेकिन अनुराग कश्यप ने लगातार ट्वीटर पर अपनी बात निडरता के साथ कहना जारी रखा.

इतना ही नहीं कुछ दिन पहले अनुराग कश्यप उन 49 लोगों में शामिल थे,जिन्होंने ‘मौब लिंचिंग’के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सख्त कानून की मांग की थी. उसके बाद से ही वह बौलीवुड के एक तबके के निशाने पर आ गए थे. ट्वीटर पर भी तमाम लोग उनके खिलाफ हो गए थे. लेकिन शनिवार को अचानक अनुराग कश्यप ने ट्वीटर पर ही ऐलान किया कि उनके परिवार को धमकियां मिल रही हैं, इसलिए वह अब खुद को ट्वीटर से अलग कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- ‘नो मेकअप’ लुक के कारण ट्रोल हुई हिना खान

अनुराग कश्यप ने ट्वीटर पर लिखा- ‘‘जब आपके पैरेंट्स को कौल आने लगे, आपकी बेटी को धमकियां मिलने लगे, तब आपको पता चल जाता है कि कोई बात नहीं करना चाहता. ऐसे मौके पर कार्तिक बनने की कोई जरूरत नहीं.ठग ही शासन करेंगे और ठगी जिंदगी जीने का नया तरीका होगा.

आप सभी को के खुश रहने और सफल होने की कामना. यह मेरा लास्ट ट्वीट होगा. क्योंकि मैं ट्वीटर छोड़ रहा हूं. जब मैं बिना डर के अपने मन की बात कह ही नहीं सकता. तो मैं बिलकुल भी बोलना पसंद नहीं करूंगा.’’ वैसे यह पहली बार नहीं है, जब अनुराग कश्यप ने ट्वीटर को अलविदा कहा हो. अनुराग कश्यप की खासियत है कि जब सोशल मीडिया भी उनके मन की बात नहीं करता, तो वह उससे दूरी बना लेते हैं. जब अनुराग कश्यप ने फिल्म ‘बौम्बे वेलवेट’ का निर्देशन किया था और इस फिल्म को बौक्स औफिस पर बिलकुल सफलता नहीं मिली थी. उस वक्त सोशल मीडिया और ट्वीटरपर अपनी फिल्म बाम्बे वेलवेट को लेकर मिल रही आलोचनाओं को सुनने की बजाय अनुराग कश्यप ने ट्वीटर को अलविदा कह दिया था.

लेकिन जैसे ही उनकी नई फिल्म के प्रदर्शन का समय आया, वह फिर से सोशल मीडिया का फायदा उठाने के लिए ट्विटर पर हाजिर हो गए थे. बहरहाल इस बार जैसे ही अनुराग कश्यप ने ट्वीटर को अलविदा कहा, वैसे ही बौलीवुड से भी कुछ लोगों ने उनकी इस बात के लिए आलोचना करनी शुरू कर दी. सबसे पहले कश्मीरी पंडित और फिल्मकार अशोक पंडित ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘‘अनुराग कश्यप पहले भी ट्वीटर से बाहर जा चुके हैं. जब उनकी फिल्म ‘बाम्बे वेलवेट’ फ्लौप हो गई थी और लोगों ने उन्हें बेकार फिल्मकार बताया था. फिर वह वही कर रहे हैं. जब उनके झूठ का पर्दाफाश हो गया है.

ये भी पढ़ें- जानें क्यों भड़के यूजर्स मोनालिसा पर, बोले- ‘पागल’ है!

फिल्म के रिलीज होने से पहले वह फिर आएंगे. इस तरह अर्बन नक्सल खबरों में रहते हैं.’’ इसके बाद फिल्म ‘ताशकंद फाइल’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने मोर्चा संभालते हुए अनुराग कश्यप को आड़े हाथ लेते हुए ट्वीटर पर लिखा- ‘‘यह बिलकुल बकवास है. जब मुझ पर हमला किया गया, तब आप शांति के साथ इसे सेलिब्रेट कर रहे थे. अब आप विक्टिम कार्ड खेलने के लिए कुछ पागल ट्रोल्स का इस्तेमाल कर रहे हैं. कोई भी ऐसा सेलीब्रिटी नहीं है, जो ट्रोल ना हुआ हो या उसे धमकी ना मिली हो. आइए और मेरा डीएम (डायरेक्ट मैसेंजर) चेक करिए. आपको बेहतर महसूस होगा. छोड़ने वाले कभी नहीं जीतते. जीतने वाले कभी छोड़ते नहीं है.’’

इतना ही नही विवेक अग्निहोत्री ने उसके बाद दूसरा ट्वीट लिखा- ‘‘कौमरेड जब अपनी बात पर लड़ने की हिम्मत ही नहीं, तो फिर पौलिटिक्स पर बेवजह बोलते ही क्यों हो. झूठी चिट्टियां लिखोगे,तो लोग उंगली उठाएंगे ही और मैदान छोड़ कर भागना था, तो फिर झूठी चिट्ठी लिखी ही क्यों? क्या हुआ अब माइनारिटी के लिए सारी हमदर्दी उड़न छू हो गई.ऐसे आएगा क्या रिवाल्यूशन ?’’

अनुराग कश्यप ने भले ही ट्वीट कर खुद को ट्वीटर से अलग करने का ऐलान किया हो, मगर ट्विटर पर लोग उनको जमकर ट्रोल कर रहे हैं. वास्तव में सोशल मीडिया और खासकर ट्वीटर पर अनुराग कश्यप अक्सर दूसरों को ट्रोल करते रहे हैं. अब जब बह ट्रोल हुए, तो उन्होंने ट्वीटर से अलग होने का ऐलान किया. बौलीवुड का एक तबका उनके इस रवैया के सख्त खिलाफ है. लोगों का मानना है कि यदि आप किसी मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखते हैं, तो फिर उसका जवाब सुनने के लिए भी आपको तैयार रहना चाहिए.

ट्वीटर से जुड़े लोग अच्छी तरह से समझते हैं कि उनकी हर बात का समर्थन उन्हें मिले. यह जरूरी नहीं है. इसके बावजूद लोग अपनी राय ट्वीटर पर रखते हैं और बेचारे अक्सर ट्रोल भी होते हैं. बौलवुड में भी ट्रोलिंग का शिकार होने वाले कलाकारों या फिल्मकारों की कमी नहीं है. बौलीवुड से जुड़े लोगों को उस दिन का इंतजार है, जब फिर से अनुराग कश्यप ट्वीटर से जुड़ेंगे.

ये भी पढ़ें- 66th नेशनल फिल्म अवार्ड: यहां पढ़ें विनर्स की पूरी लिस्ट

Tags:
COMMENT