बौलीवुड के एंग्री यंग मैन, शहंशाह, बिग बी और मेगास्टार अमिताभ बच्चन को हिंदी सिनेमा में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया. उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को राष्ट्रपति भवन में खिताब प्रदान किया. इस कार्यक्रम में 77 वर्षीय अमिताभ बच्चन के साथ उनकी पत्नी जया बच्चन और बेटा अभिषेक बच्चन भी मौजूद थे.

आपको बता दें कि 25 सितंबर को अमिताभ बच्चन को यह पुरस्कार देने की घोषणा की गई थी. घोषणा के दो महीने बाद 23 दिसंबर को 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार दिए गए. तबियत नासाज़ होने के कारण अमिताभ बच्चन सोमवार को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में शामिल नहीं हो पाए थे. उन्होंने अपने खराब स्वास्थ्य की जानकारी सोशल मीडिया पर दी थी. इसके बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने बताया था कि अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के सम्मान से 29 दिसंबर को नवाजा जाएगा.

ये भी पढ़ें- अलविदा 2019 : इस साल शादी के बंधन में बंधे बौलीवुड के ये 5 कपल

अमिताभ बच्चन ने पुरस्कार लेने के बाद सभी का शुक्रिया अदा किया और कहा कि दादा साहब फाल्के पुरस्कार को देने की शुरुआत करीब 50 साल पहले हुई और मुझे इंडस्‍ट्री में काम करते हुए भी करीब 50 साल हो गए हैं. उन्होंने कहा, 'जब इस पुरस्कार की घोषणा हुई तो मेरे मन में एक संदेह उठा कि क्या कहीं ये संकेत है मेरे लिए कि भाई साहब आपने बहुत काम कर लिया है, अब घर बैठ के आराम कीजिए. क्योंकि अभी भी थोड़ा काम बाकी है, जिसे मुझे पूरा करना है और आगे भी कुछ ऐसी संभावनाएं बन रही हैं जहां मुझे काम करने का अवसर मिलेगा, यदि इसकी पुष्टि हो जाए तो बड़ी कृपा होगी.'

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT