पूरी दुनिया रहस्यों से भरी हुई है. इन में कई रहस्य तो अजीबोगरीब होने के साथ दिलचस्प भी होते हैं. यहां हम एक ऐसे अजीबोगरीब गांव के बारे में बता रहे हैं, जिसे बौनों का गांव कहा जाता है. आप ने परीकथाओं में जरूर ऐसे गांव का जिक्र सुना होगा, पर ये असल का गांव है जहां सिर्फ बौने ही रहते हैं.

इस गांव की खास बात यह है कि यहां जो बच्चे पैदा होते हैं, वे भी बौने ही होते हैं. इस गांव के करीब आधे लोगों की लंबाई मात्र 2 फीट 1 इंच से ले कर 3 फीट 10 इंच तक ही है. बौनों के इस गांव का नाम यांग्सी है और यह चीन के शिचुआन प्रांत के दूरदराज पहाड़ी वाले इलाके में स्थित है. यह गांव ‘ड्वार्फ विलेज औफ चाइना’ के नाम से भी फेमस है.

बौनों के इस गांव में ज्यादातर मामलों में बच्चों की लंबाई 5 से 7 साल के बाद रुक जाती है. उन का कद अपनी उम्र के साथ नहीं बढ़ता, वहीं कुछ मामलों में बच्चों की लंबाई सिर्फ 10 साल तक ही बढ़ पाई.
गांव के बुजुर्गों की मानें तो उन की खुशहाल और सुकूनभरी जिंदगी कई दशक पहले उस समय खत्म हो गई थी, जब इस इलाके को एक खतरनाक बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया था.

ये भी पढ़ें- एक खानदान में 11 सीए

एकदम अचानक ऐसा क्या हुआ कि एक सामान्य कदकाठी वाला गांव बौनों के गांव में तब्दील हो गया? इस रहस्य को वैज्ञानिक पिछले 60 सालों में भी नहीं सुलझा पाए हैं. वैज्ञानिक इस गांव की मिट्टी, पानी, हवा, वातावरण, अनाज आदि का कई बार अध्ययन कर चुके हैं. लेकिन फिर भी इस समस्या का कारण खोजने में नाकाम रहे हैं.

यहां के बच्चों की 5 से 7 साल के बाद लंबाई रुक जाना ही एक समस्या नहीं है. इस के अलावा भी यह कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं. इस इलाके में बौनों को देखने जाने की खबरें तो सन 1911 से आ रही हैं. इस के अलावा सन 1947 में एक अंगरेज वैज्ञानिक द्वारा भी यहां सैकड़ों बौने देखे जाने की अफवाहें आई थीं. लेकिन आधिकारिक तौर पर बौनों के इस गांव की पुष्टि सन 1951 में हुई थी.

ये भी पढ़ें- 73 साल के हीडे ने जीती 30 हजार मील की रेस

सन 1997 में एक रिसर्च में इस बीमारी की वजह गांव की मिट्टी में पारा होने की बात कही गई थी. वहीं कुछ लोगों का मानना है कि इस का कारण वे जहरीली गैसें हैं जो जापान ने कई दशकों पहले चीन में छोड़ी थीं.
वहीं कुछ लोगों का कहना है कि खराब फेंगशुई के चलते ऐसा हो रहा है. इस के अलावा कुछ लोग यह भी मानते हैं कि सब अपने पूर्वजों को सही तरीके से दफन नहीं करने की वजह से यह सजा भुगत रहे हैं.

एडिट बाय- निशा राय

Tags:
COMMENT