जी हां आपने अक्सर फिल्मों में और सीरियल्स में ही लोगों को रूप बदलते देखा होगा लेकिन अब तो लोग असल जिंदगी में भी ऐसा ही करने लगे हैं भाई. जरा सोचिए कि किसी की इतनी हिम्मत कहां से हो गई जो भेस बदलकर दूसरे देश में जाने के फिराक में था. हालांकि अब तो ऐसी खबरें आम बात हो गई जब लोग ऐसे कारनामें करने लगे हैं.

हाल ही में एक खबर आई कि दिल्ली एयरपोर्ट पर एक व्यक्ति को पकड़ा गया जिसकी उम्र तो थी 32 साल लेकिन वो बना 81 साल का बूढ़ा. उस व्यक्ति की पहचान जयश पटेल नाम से हुई है और उसने क्या किया ये आपको जरूर जानना चाहिए.

ये भी पढ़ें- इस एयरपोर्ट पर होती है बिना रनवे के विमानों की लैंडिंग

जयेश पटेल गुजरात का रहने वाला है और उसे अमेरिका जाना था जहां जाकर वो अपनी जिंदगी बदलना चाहता था.वो एशोआराम से रहना चाहता था,वो सोचता था कि भारत में रहकर उसका कुछ नहीं होने वाला विदेश जाकर उसकी जिंदगी बदल जाएगी और बड़े ही आराम से उसकी जिंदगी कटेगी लेकिन उसे वीज़ा नहीं मिल रहा था जिसके कारण उसने एक एजेंट से बात की और उसी एजेंट ने उसे ये सलाह दी कि उसे अपना भेस बदलना होगा.बस फिर क्या था चल पड़े महाशय ओखली में सर देने. 32 साल के जयेश पटेल ने 81 साल के बूढ़े के रुप में अपना भेस बदला और व्हीलचेयर पर बैठ कर जाने लगा उसे लगा कि कोई उसपर शक नहीं करेगा लेकिन दिल्ली एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान सीआईएसएफ ने उससे पूछताछ की और उन्हें उसपर शक हो गया.जब सीआईएसएफ को सच का पता चला तो सबके होश ही उड़ गए.सबसे चौकानें वाली बात तो ये सामने आई कि उसने एजेंसी को भी अपने क्लीयरेंस में ले लिया था और 81 साल का दिखने के लिए उसने ज़ीरो पावर का चश्मा भी पहन रखा था.सफेद दाढ़ी भी लगा रखा थी और मेकओवर ऐसा कि किसी को भी उस पर शक नहीं होता..लेकिन सुरक्षाकर्मियों से बच नहीं पाया और पूछताछ में पकड़ा गया.उस व्यक्ति के दिमाग की तो दाद देनी पड़ेगी जिसने उसको इतना बड़ा अपराध करने पर मजबूर कर दिया.उस एजेंट की भी क्या कहें जिसने जयेश को ये सलाह दी.

सिर्फ वीजा न मिलने के कारण उसने इतनी बड़ी साजिश रच डाली…वाह भाई पहले तो सिर्फ फिल्मों में ही देखना होता था लेकिन अब लोग सच में ऐसा करने लगे हैं.लेकिन आप सभी जरूर सावधान रहें और ऐसा करने से पहले सोचें क्योंकि ये करना कितना खतरनाक है ये तो आप समझ ही गए होंगे.क्योंकि जयेश के इस बहरूपिए के खेल ने उसे जेल का रास्ता दिखा दिया.अब वो भी यही सोच रहा होगा कि कहां विदेश जाकर उसकी जिंदगी बदलने वाली था और कहां वो जेल पहुंच गया.जनाब जब दिमाग जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल कर लो तो यही होता है…वो कहते हैं न विनाशकाले विपरीत बुद्धि बस वही हाल हुआ जयेश का.तो दोस्तों यही सलाह है आप कभी ऐसा कुछ न करें.

ये भी पढ़ें- 9 द्वीपों का समूह : पुर्तगाल का एजोरेस 

Tags:
COMMENT