सरिता विशेष

भारतीय महिला क्रिकेट टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर एक मुसीबत में फंसती नजर आ रही हैं. आईसीसी महिला वनडे वर्ल्डकप में अपने प्रदर्शन से सभी को चौंकाने वाली हरमनप्रीत कौर को पंजाब पुलिस ने बड़े उत्साह से डीएसपी की नौकरी दी थी. इसके लिए उन्होंने रेलवे की नौकरी भी छोड़ी थी लेकिन रेवले ने उन्हें मुक्त नहीं किया था और पंजाब सरकार के प्रयासों की वजह से रेलवे ने उन्हें अपनी सेवाओं से मुक्त किया था जिसके बाद वे पंजाब में डीएसपी पद पर पदस्थ हो सकी थीं अभी उसी पंजाब पुलिस ने हरमनप्रीत की ग्रेजुएशन की डिग्री को सत्यापन के दौरान फर्जी पाया है.

पंजाब के मोगा की रहने वाली अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हरमनप्रीत कौर को पंजाब पुलिस में 1 मार्च को डीएसपी के तौर पर शामिल किया गया था. वहीं अब पंजाब पुलिस ने उनके द्वारा दिए गए शिक्षा के विवरण को सही नहीं पाया है.

sports

पुलिस के मुताबिक जब जलंधर पंजाब पुलिस ने डिग्री के सत्यापन के लिए मेरठ यूनिवर्सिटी भेजा तो वहां उस डिग्री का रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं पाया गया. पुलिस ने इस मामले से जुड़े सभी तथ्य आगे की कार्रवाही के लिए राज्य सरकार को भेज दिए गए हैं. पुलिस ने गृह विभाग को एक प्रस्ताव भेजा गया है, जिसमें कहा गया है कि हरमनप्रीत की डिग्री वैध ना होने की वजह से वह डीएसपी के पद पर बनी नहीं रह सकती.

हरमनप्रीत ने नहीं दी कोई प्रतिक्रिया

इस विषय पर जब हरमनप्रीत से जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस कहा कि अभी उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली है विभाग से बात होने के बाद ही वे इस विषय पर कुछ भी कहने की स्थिति में होंगी.

वर्ष 2017 में, औस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में हरमनप्रीत ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 171 रन बनाए, जो विश्व कप के इतिहास में किसी भी भारतीय द्वारा बनाया गया सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है. इस समय हरमनप्रीत महिला टी20 टीम इंडिया की कप्तान हैं.

CLICK HERE                               CLICK HERE                                    CLICK HERE