‘हमें तुम से प्यार कितना ये हम नहीं जानते, मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना,’ ‘मेरी रगरग में तुम हो और उसी होने के आनंद को जीती हूं मैं’, ‘तुम एक शब्द हो, जिस का अर्थ है खुशी’, ‘कह नहीं पाती तुम से पर यह सच है कि तुम मेरा आधार हो, जिस के भरोसे मेरा वजूद है…’

जैसेजैसे फरवरी माह करीब आने लगता है, जोड़े अपने साथी को वैलेंटाइन डे पर एक अच्छे से तोहफे पर कुछ ऐसी ही पंक्तियां लिख कर देने की फिराक में रहते हैं. क्योंकि उन के लिए तो यह दिन खुशियां, उम्मीदें और उमंग ले कर आता है. आएं आप भी थोड़ा रूमानी हो जाएं और जानें क्या है वैलेंटाइन डे, जिस ने भारत की जमीन पर दबे पांव कदम रखा था पर धीरेधीरे सभी युवाओं को अपना मुरीद बना लिया.

इस पर्व को मनाने के तौरतरीके और रीतिरिवाज बड़े अनोखे और रोचक रहे हैं. इतिहास के पन्ने पलटें तो वे कहते हैं कि एक ऐसे व्यक्ति के बलिदान का दिन है वैलेंटाइन डे, जिस ने प्यार किया और प्यार करने वालों को एक पवित्र बंधन में बांधने का प्रयास किया. उन के वक्त में रोम का शासक क्लोडियम था जो कि बहुत कू्रर और सख्त स्वभाव का था. उस ने अपने शासनकाल में सभी सिपाहियों पर प्रतिबंध लगा दिया था कि कोई भी न तो अपनी प्रेमिका से मिलेगा और न ही शादी करेगा. मगर वैलेंटाइन ने राजा की मरजी के खिलाफ प्रेमी जोड़ों की छिपछिप कर शादी करवाई और प्रेम करने वालों को एकदूसरे से मिला दिया. यों कहें कि वह प्रेम का फरिश्ता बन गया. क्लोडियम से यह सब बरदाश्त न हुआ और वैलेंटाइन को मृत्युदंड दिया गया. यह बात 14 फरवरी, 269 ई. की है.

वैलेंटाइन की एक दोस्त थी जो जेलर की बेटी थी. उसे मृत्युदंड से पहले वैलेंटाइन ने एक खत लिखा था. इस के बाद हर साल 14 फरवरी को वैलेंटाइन की याद के दिन के रूप में मनाया जाने लगा और इसे नाम दिया गया वैलेंटाइन डे. शुरू में लोग इस मौके पर प्रेम भरा खत लिखते थे, तो बाद में अपने प्रिय को खत के साथ उपहार देने का चलन चला और आज तो बाजार में इस से जुड़े उपहारों की भरमार है. आइए, जानते हैं कि उन में खास उपहार कौन से हैं और उन की अहमियत किसलिए है:

गुलाब: प्यार के इजहार के लिए सब से बेहतर तरीका है लाल गुलाब. लेकिन यह भी याद रहे कि प्रेमी या प्रेमिका को दिए जाने वाले गुलाबों की संख्या भी कुछ हती है. जैसे प्यार के इजहार के लिए 1 गुलाब ही काफी है. अगर आभार प्रकट कर रहे हों तो 1, बधाई के लिए 25 और बिना शर्त के प्यार के लिए 50 गुलाबों का महकता गुलदस्ता उपयुक्त माना जाता है. बस शर्त यह है कि उसे लवर्स नौट में बांध कर दें.

दिल: वैलेंटाइन डे पर बाजार में लाल गुलाबों की भरमार के बाद दिल की शेप में बने विभिन्न प्रकार के कार्ड्स व गिफ्ट आइटम देखने को मिलते हैं. पहले कामदेव के तीर से बिंधा दिल रति के लिए प्रेम की अभिव्यक्ति का बेहद खूबसूरत जरीया था. प्यार करने वालों को वैलेंटाइन डे पर दिल शेप में बने हुए कार्ड्स, शोपीस, टैडी बियर, पाउच, इंयररिंग्स, रिंग्स, ज्वैलरी बौक्स, सिरैमिक कौफी मग, कुशन कवर, पिलो कवर तथा शोपीस मिल जाएंगे.

कबूतर का जोड़ा: ‘तुम्हारे बिना मैं मर जाऊंगी’, ‘तुम से बिछुड़ने से पहले मुझे मौत आ जाए’, ये जुमले प्रेमी युगल एकदूसरे से अकसर कहते हैं. शायद हम में से बहुत कम इस बात से वाकिफ होंगे कि कबूतरकबूतरी ऐसे प्यार के पर्याय होते हैं कि यदि इन दोनों में से एक की मौत हो जाए तो फिर दूसरा नए साथी की तलाश नहीं करता. प्यार तो समर्पण है. प्यार व उस के प्रति पूर्ण आस्था को दर्शाने के लिए, शौपिंग मौल्स व गिफ्ट शौप्स में ऐसे कबूतरों की जोडि़यों की विभिन्न मुद्राओं में गिफ्ट आइटम देखने को मिलते हैं.

मैपल लीफ: कनाडा के राष्ट्रीय वृक्ष मैपल ट्री की पत्तियां आज भी जापानी और चीनी सभ्यता में प्रेम को प्रतिबिंबित करती हैं. इन पत्तियों में मिठास होती है. शायद इसीलिए ऐसी मान्यता है. अमेरीका में कई प्रेमी युगल सच्चा प्यार पाने के लिए बैड के नीचे फर्श पर मैपल की पत्तियां रखते हैं. वैलेंटाइन डे पर मैपल पत्ती वाले कार्ड खूब मिलते हैं. उन पर लिखे होते हैं कुछ रोमांटिक शेर या फिर तीर से बिंधा दिल बना होता है.

ट्यूलिप फ्लावर: कहींकहीं शादी की 11वीं सालगिरह का प्रतीक माना गया है ट्यूलिप फ्लावर. ट्यूलिप फ्लावर के बीचोंबीच काले मखमली भाग को प्रेमी का दिल माना गया है. प्रेमियों की पहली पसंद कहलाने वाला ट्यूलिप फूल दरअसल मशहूर प्रेमी युगल शीरीफरहाद के इश्क की उपज माना जाता है. कहते हैं, फरहाद जो तुर्की का रहने वाला था, शीरी से बेपनाह मुहब्बत करता था. जब फरहाद को पता चला कि शीरी अब इस दुनिया में नहीं रही, तो वह दीवानों की तरह पहाड़ की चोटी पर चढ़ गया और प्यार में पागल हो कर उस चोटी से कूद गया. फिर जहांजहां उस के खून की बूंदें गिरीं, वहींवहीं सुर्ख ट्यूलिप का फूल खिला. बस तभी से यह इश्क के मतवालों के प्यार का प्रतीक बन गया. वैलेंटाइन डे पर प्रेमी युगल प्यार में मर मिटने के लिए ट्यूलिप गिफ्ट करते हैं.

डायमंड: प्यार को दर्शाने के लिए डायमंड यानी हीरे से बढ़ कर तोहफा और क्या हो सकता है. प्यार शिलालेख सा अमिट है. इसे दर्शाने के लिए हीरा एक अनुपम उपहार है. ग्रीक सभ्यता में तो हीरों को देवताओं के टपके हुए आंसू माना गया है. रोमन सभ्यता में इस का गुणगान आसमान से टूटा तारा मान कर किया गया है. बाजार इन मान्यताओं को भुनाने में वक्त नहीं लगाता. वैलेंटाइन डे पर आभूषण की दुकानों पर उपहार में देने के लिए डायमंड लेने की होड़ सी लगी रहती है. यों भी तो कहा जाता है कि जो हीरा पहनता है उस के व्यवहार में एक ठहराव और संतुलन झलकता है. प्रेमिका को इंप्रैस करने का सही दिन है वैलेंटाइन डे और सही तोहफा डायमंड.

दिलनुमा शेप के तोहफे: प्यार का इजहार करने का एक अच्छा तरीका यह भी है कि ऐसा कोई भी तोहफा देना जिस पर दिल बना हो. दिल से कीजै दिल की बात. बाजार में रेशमी या फिर वैलवेट कपड़े से बने दिल आकार के छोटेबड़े गिफ्ट बौक्स या डिब्बियां मिल जाती हैं. बाजार से न लेना हो तो अपनी कल्पनाशीलता की उड़ान को पंख दें और मनाएं वैलेंटाइन डे.

Tags: