सरिता विशेष

जब किसी दिमागचट या उधारी वाले को टरकाना होता है तब पिता अपने पुत्र को समझा देता है कि फलां अंकल आएं तो बोल देना कि पापा घर पर नहीं हैं. दुनियादारी का यह पहला पाठ स्मार्ट और खूबसूरत युवा सांसदों में शुमार चिराग पासवान खूब सीख गए हैं जो अमिताभ बच्चन की स्टाइल में कहते नजर आए कि जाओ पहले उस जज को एनजीटी के अध्यक्ष पद से हटाओ जिस ने एससीएसटी एक्ट से यह हटा दिया था कि …

गरमाती दलित राजनीति में ऐसे मुद्दों की भरमार है जिन्हें ले कर लोजपा मुखिया रामविलास पासवान छटपटा रहे हैं कि चेहरा चमकाने का यह सुनहरा मौका वे एनडीए का हिस्सा होने के चलते नहीं भुना पा रहे.  लिहाजा, उन्होंने अपने होनहार पूर्व अभिनेता बेटे को सियासी बिसात पर सामने ला खड़ा कर दिया है. वहीं चिराग भी अपनी भूमिका समझते न शह लगने दे रहे हैं, न पिताश्री को मात खाने दे रहे हैं.

4 वर्षों में बिहार की राजनीति का नक्शा उलट गया है और पासवान परिवार कशमकश में है कि कैसे दलित राजनीति व एनडीए दोनों को एकसाथ साधा जाए कि बात हल्दी लगे न फिटकरी और रंग भी आए चोखा जैसी लगे. इसलिए चिराग ने एससीएसटी एक्ट पर फैसला देने वाले जस्टिस ए के गोयल को निशाने पर ले कर खेल में बने रहने की कोशिश की है जिस में कांग्रेस भी उन के साथ खड़ी है.