सरिता विशेष

अब सूरज पंचोली की किस्मत खराब है या पूजा हेगड़े हवा में उड़ रही हैं, इसका फैसला तो बॉलीवुड के बिचौलिए या यह दोनों कलाकार ही कर सकते हैं. मगर हकीकत यह है कि सूरज पंचोली के करियर की पहली फिल्म ‘हीरो’ जब से बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से असफल हुई है, तब से उन्हें कोई फिल्म नहीं मिली, जो फिल्में पहले उन्हें मिली थी, वह फिल्में शुरू ही नहीं की गयी.

तो वहीं पूजा हेगड़े की पहली हिंदी फिल्म ‘मोहनजोदाड़ो’ भी बॉक्स ऑफिस पर असफल रही. इसके बावजूद पूजा हेगड़े ने सूरज पंचोली के साथ यह कह कर फिल्म करने से इंकार कर दिया कि सूरज पंचोली अव्वल दर्जे के कलाकार नहीं हैं. फिल्मकार फारूक कबीर ने सूरज पंचोली के साथ एक फिल्म का ऑफर पूजा हेगड़े को दिया, मगर पूजा हेगड़े ने फारूक कबीर को अपने घर से बाहर का रास्ता दिखाते हुए कहा कि सूरज पंचोली ‘ए’ ग्रेड के कलाकार नहीं हैं और वह सिर्फ ‘ए’ ग्रेड के कलाकार के संग ही फिल्म करना चाहती हैं.

पूजा हेगड़े के इस बर्ताव को कुछ लोग यह कहकर गलत बता रहे हैं कि वह असफल अभिनेत्री होने के बावजूद हवा में उड़ रही हैं. जबकि कुछ लोगों का दावा है कि पूजा हेगड़े सही कदम उठा रही हैं. वास्तव में सूरज पंचोली और पूजा हेगड़े के करियर में काफी अंतर है. पूजा हेगड़े दक्षिण भारत की सफल अदाकारा हैं. दूसरी बात उनकी फिल्म ‘मोहनजोदाड़ो’ एक बड़े कलाकार रितिक रोशन व बड़े निर्देशक आषुतोष गोवारीकर की फिल्म ‘मोहनजोदाड़ो’ रही. इस बड़े बजट की फिल्म में अभिनय कर पूजा हेगड़े ने लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया.

यह एक अलग बात है कि इस फिल्म में उनके हिस्से करने को कुछ था नहीं. जबकि सूरज पंचोली के करियर की पहली फिल्म ‘हीरो’ की हीरोइन भी नई थी. और इस फिल्म के बाद किसी का भी ध्यान सूरज पंचोली की तरफ नहीं गया. इसके अलावा जिया खान की आत्महत्या के मुकदमे में सूरज पंचोली बुरी तरह से फंसे हुए हैं.