सरिता विशेष

सुजीत सरकार की फिल्म ‘पिंक’ की ट्रेलर रिलीज हो गई है. यह उनकी 5वीं फिल्म है जिसे उन्होंने बखूबी पर्दे पर उतारने की कोशिश की है. दो बार नेशनल अवार्ड विजेता अनिरुद्ध चौधरी ने इसका निर्देशन किया है.

यह पहले बांग्ला में बनने वाली थी लेकिन सुजीत सरकार को इसकी कहानी, जिसे रितेश शाह ने लिखा है बहुत ही अलग और दिलचस्प लगी. इसलिए उन्होंने इसे हिंदी में बनाने का संकल्प लिया क्योंकि उन्हें लगा कि आज के परिवेश में यह ऐसी कहानी है जो पूरे देश में दिखाए जाने की जरुरत है.

इस फिल्म में वकील की मुख्य भूमिका निभा रहे अभिनेता अमिताभ बच्चन का कहना है कि उनका चरित्र सहानुभूति दिखाने वाला है. देश की परिस्थिति को दिखाते हुए इसे बनाया गया है.

निर्देशक का कहना है कि ऐसी फिल्म बनाने की इच्छा बहुत सालों से थी जब सुजीत सरकार ने इसे हरी झंडी दिखाई, तो मेरा काम आसान हुआ. अभिनेत्री तापसी पन्नू का कहना है कि वह दिल्ली की हैं और यह कहानी उनके दिल के करीब है. उन्होंने यह भी कहा कि अमिताभ बच्चन के साथ भूमिका निभाना उनके लिए बड़ी बात थी.

‘पिंक’ नाम की वजह अमिताभ बच्चन बताते है कि ‘पिंक’ ‘वीमेन एम्पावरमेंट’ को दर्शाता है. महिलाओं को शक्ति मिले इसलिए पिंक को चुना गया है इसके जरिये महिलाओं को जागृत करने की इच्छा है. उनके अंदर जो शक्ति है, उसे पहचाने और उसका प्रयोग करें.

समाज में महिलाओं का बहुत निरादर होता है, इसलिए वे अपने पैरों पर खड़े होकर बल को पहचाने. महिलाओं की शक्ति हर देश में करीब 50 प्रतिशत है. उनको ये फिल्म समर्पित है.

इस फिल्म में कई ‘हार्ड लाइन’ संवाद है जिसके बारे में पूछे जाने पर अमिताभ ने कहा कि यह सही है कि फिल्मों में ऐसी संवाद पहले कही नहीं गई है, लेकिन अगर ये संवाद कोर्ट रूम के दृश्य को सपोर्ट करे, तो गलत नहीं है. फिल्म को देखने के बाद आपको ये सारें संवाद सही लगेंगे.