सरिता विशेष

दक्षिण भारत की तमिल व तेलगू में फिल्मों में अभिनय करते हुए वहाॅं की सुपर स्टार बन जाने वाली काजल अग्रवाल मूलतः पंजाबी और मंबई की रहने वाली है. वह अजय देवगन के साथ रोहित शेट्टी निर्देषित हिंदी फिल्म‘‘सिंघम’’के अलावा अक्षय कुमार के साथ हंदी फिल्म ‘‘स्पेशल 26’’भी कर चुकी हैं. लेकिन अभी तक उन्होने एक सीमा रेखा खींच रखी है. अब तक काजल अग्रवाल ने किसी भी फिल्म में किसिंग या इंटीमसी के सीन नहीं किए. वह खुद कहती हैं-‘‘मुझे हिंदी फिल्मों में बहुत से प्रयोग करने हैं. मैं हास्य, एक्षन,रोमांटिक सहित हर तरह के किरदार निभाना चाहूंगी. लेकिन मेरी अपनी कुछ सीमाएं हैं. इन सीमाओं को मैं कभी नहीं तोडूंगी. मैं ज्यादा एक्सपोजर या इंटीमसी के दृष्यों के सख्त खिलाफ हूं.’’

यही वजह है कि जब दीपक तिजोरी के निर्देशन में बन रही फिल्म‘‘दो लफ्जों की कहानी’’की मलेशिया में शुटिंग के दौरान एक सीन में अभिनेता रणदीप हुडा ने अचानक कैमरे के सामने काजल अग्रवाल को ‘किस’कर लिया, तो काजल अग्रवाल भड़क गयी. सूत्र बताते हं कि काजल अग्रवाल ने तुरंत शुटिंग रूकवायी और दीपक तिजोरी से कहा कि वह इस सीन को फिल्म से हमेषा के लिए हटा दें. सूत्र की माने तो उस वक्त दीपक तिजोरी ने काजल को कुछ आष्वासन देते हुए शुटिंग करने के लिए राजी कर लिया था. लेकिन अब यह किसिंग सीन काजल अग्रवाल व दीपक तिजोरी के लिए गले की फंस बना हुआ है. क्योंकि दीपक तिजोरी के अनुसार यह किसिंग सीन फिल्म की विषयवस्तु के लिए बहुत अहम है. जबकि काजल अग्रवाल इसे हटाने पर जोर दे रही है. अब देखना यह है कि अंतिम फैसला क्या होता है.