सरिता विशेष

सत्ता की सनक और हनक, दबंगई, बिगडै़ल बेटे और शराब ने जनता दल (यूनाइटेड) की नेता मनोरमा देवी की सियासत, रसूख और पूरे परिवार को बरबाद कर दिया है.  मनोरमा देवी का पति बिंदी यादव जहां अपराधी है, वहीं उन का बिगड़ैल बेटा रौकी यादव गया के आदित्य सचदेवा मर्डर केस में जेल की कालकोठरी में बंद है. बेटे को बचाने, भगाने और सुबूत मिटाने की कोशिश में बिंदी यादव और घर में शराब रखने के आरोप में मनोरमा देवी भी जेल की हवा खा रहे हैं.

साल 1970 में जनमी मनोरमा देवी के पिता हजारा सिंह मूल रूप से पंजाब के रहने वाले थे और ट्रक ड्राइवरी करते थे. पंजाब से ट्रक ले कर अकसर उन का बिहार आनाजाना होता था और वे गया जिले के बाराचट्टी इलाके के काहूदाग गांव के पास के ढाबे में ठहरा करते थे. ढाबा चलाने वाले की बेटी कबूतरी से हजारा सिंह की नजरें मिलीं और दोनों ने शादी कर ली. हजारा सिंह और कबूतरी की बेटी मनोरमा देवी बचपन से ही काफी बोल्ड थीं. बाराचट्टी के कन्या हाईस्कूल से मैट्रिक और सोभ कालेज से इंटर करने वाली मनोरमा का मन सामाजिक कामों में खूब रमता था.

साल 1989 में मनोरमा देवी की शादी बिदेंश्वरी यादव उर्फ बिंदी यादव के साथ हुई. बिंदी यादव उस जमाने में ठेकेदारी के छोटेमोटे काम करता था. साल 1990 में लालू प्रसाद यादव जब बिहार के मुख्यमंत्री बने, तो बिंदी यादव अपराध के साथसाथ राजनीति में भी पैर जमाने लगा था.

बिंदी यादव के साथसाथ मनोरमा देवी भी राजद में शामिल हो गई थीं. साल 2001 में बिंदी यादव को गया जिला परिषद का अध्यक्ष चुना गया और उसी साल मनोरमा देवी भी मोहनपुर ब्लौक की प्रमुख बनीं. उस के बाद वे साल 2003 में राजद के कोटे से एमएलसी बनीं और साल 2009 तक उस पद पर रहीं. साल 2015 में वे दोबारा जद (यू) के कोटे से एमएलसी बनाई गई थीं.

आदित्य सचदेवा मर्डर केस के आरोपी मनोरमा देवी के बेटे रौकी यादव की खोज में जब पुलिस ने उन के घर पर छापा मारा, तो वहां विदेशी शराब की 6 बोतलें बरामद हुईं. घर से शराब बरामद होने के मामले में जद (यू) से निलंबित मनोरमा देवी को 19 मई, 2016 को कोर्ट से जमानत नहीं मिली. कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जमानत याचिका खारिज कर दी.

घर से शराब बरामद होने के 6 दिनों के बाद मनोरमा देवी ने 17 मई, 2016 को गया कोर्ट में सरैंडर कर दिया. सरैंडर करने के बाद उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. मनोरमा देवी ने कहा कि उन्हें फंसाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने साजिश रची है. सरकार ने मनोरमा देवी के मकान को जब्त करने की पहल शुरू कर दी है. मकान की जब्ती की खानापूरी करने के बाद उन के मकान में स्कूल खोला जाएगा.

मनोरमा देवी के पति बिंदी यादव की दबंगई और अपराध की वजह से जमशेदपुर में उस की तूती बोला करती थी. 1990 में वह अपराध जगत का कुख्यात नाम था. बिंदी यादव की तरह उस का बेटा राकेश रंजन यादव उर्फ रौकी यादव भी दबंगई के नशे में चूर था. चमचमाती नई लैंडरोवर गाड़ी में सवार रौकी ने 7 मई, 2016 को ओवरटेक विवाद में 12वीं जमात के छात्र आदित्य सचदेवा की गोली मार कर हत्या कर दी थी.

उस रात तकरीबन 10 बजे आदित्य सचदेवा मारुति स्विफ्ट कार बीआर-2 वन/2699 से बोधगया से अपने घर गया की ओर लौट रहा था. रास्ते में जेल इलाके के पास ही सत्तारूढ़ दल जद (यू) की एमएलसी मनोरमा देवी का बेटा रौकी अपनी लैंडरोवर कार से आदित्य की कार को ओवरटेक करने की कोशिश करने लगा. जब काफी देर तक आदित्य ने उसे पास नहीं दिया, तो खाली सड़क मिलने पर ओवरटेक कर आदित्य की कार को रोका गया और उस की जम कर पिटाई कर दी गई.

पिटाई के बाद आदित्य और उस के साथियों ने माफी मांग ली और वापस अपनी कार की ओर जाने लगा, तो रौकी ने पीछे से उस पर गोली चला दी. आदित्य सचदेवा के दोस्तों ने पुलिस को बताया कि उस लैंडरोवर गाड़ी से 4 लोग बाहर निकले. उन में रौकी, बौडीगार्ड, ड्राइवर समेत एक और आदमी था, जिसे कोई नहीं पहचानता था. रौकी ने पहले पिस्तौल के बट से नासिर पर हमला किया, तो नासिर ने डर कर गाड़ी को भगाने की कोशिश की. गाड़ी कुछ दूर ही आगे गई थी कि पीछे से गोली चलने की आवाज आई. गोली आदित्य को लगी और वह वहीं लुढ़क गया.

इस हत्या के सिलसिले में बिंदी यादव और रौकी को पुलिस ने दबोच लिया. मनोरमा देवी के सरकारी बौडीगार्ड राजेश कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया. राजेश पर आरोप है कि उस ने रौकी को गोली चलाने से क्यों नहीं रोका  

एडीजे, हैडक्वार्टर सुनील कुमार ने बताया कि हथियार की फोरैंसिक जांच में पता चला है कि बौडीगार्ड के हथियार से गोली नहीं चलाई गई है. बौडीगार्ड ने पुछताछ में पुलिस को बता दिया कि रौकी ने ही आदित्य पर गोली चलाई थी. रौकी हमेशा अपने पास रिवौल्वर रखता था. आदित्य सचदेवा की हत्या के 54 घंटे बाद रौकी यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. 10 और 11 मई की रात को 2 बजे उसे उस के पिता बिंदी यादव के मस्तपुरा में बने मिक्सचर प्लांट में दबोचा गया. उस के पास से हत्या में इस्तेमाल की गई लोडेड विदेशी रिवौल्वर और गोलियों से भरी मैगजीन भी बरामद की गई.

एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान रौकी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है, वहीं दूसरी ओर रौकी का कहना है कि उस ने आदित्य की हत्या नहीं की. घटना के समय वह दिल्ली में था और वह अपनी मां के बुलावे पर गया पहुंचा था. उस ने अपनी मां मनोरमा देवी के कहने पर ही सरैंडर किया है.

आदित्य की हत्या के बाद एमएलसी मनोरमा देवी का पूरा परिवार और राजनीति चौपट हो गई है. पहले तो बेटा रौकी हत्या के मामले में जेल गया और उस के बाद पति बिंदी यादव को भी पुलिस ने हत्यारे को छिपानेभगाने के जुर्म में सलाखों के पीछे ठूंस दिया है. इस के बाद घर में विदेशी शराब रखने के आरोप में मनोरमा देवी भी जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दी गई हैं.

शराब की बोतलें मिलने पर छीछालेदर से बचने के लिए एमएलसी मनोरमा देवी को जद (यू) से तुरंत निलंबित कर दिया गया.

एपी कालोनी इलाके में मनोरमा देवी के घर को जब्त करने की कार्यवाही भी शुरू की गई है. उत्पाद सहायक आयुक्त विकास कुमार सिन्हा ने बताया कि नई उत्पाद नीति की धारा 47-ए, 48, 53 और 54 के तहत रामपुर थाने की पुलिस ने मनोरमा देवी के घर को सील किया है. अब धारा 68-जी के तहत मनोरमा देवी के घर का अधिग्रहण किया जाएगा.