मशहूर गीत ‘चिट्टियां कलाइयां…’ और ‘बेबी डौल…’ गाने वाली खूबसूरत गायिका कनिका कपूर की जिंदगी काफी उतारचढ़ाव से गुजर चुकी है. वे 18 साल की उम्र में अपने म्यूजिक के शौक को छोड़ कर शादी कर के पति के साथ लंदन चली गई थीं, पर 3 बच्चों की मां बनने के बाद यह शादी नहीं टिकी और फिर कनिका को अपने बचपन के शौक को ही आमदनी का जरीया बनाते हुए वापस बौलीवुड का रुख करना पड़ा. पेश हैं, कनिका कपूर से हुई बातचीत के खास अंश :

लखनऊ से लंदन और फिर लंदन से बौलीवुड में आ कर म्यूजिक में कैरियर बनाना. अपने इस सफर को आप किस रूप में देखती हैं?

इस सफर को ले कर जब मैं सोचती हूं, तो खुशी कम दुख ज्यादा होता है. लखनऊ के साधारण परिवार की लड़की, जिस की 18 साल की उम्र में शादी हो जाती है. वह लंदन जाती है, जहां वह एक साधारण पारिवारिक जिंदगी जीती है. 3 बच्चों की मां बनती है. उसे लगता है कि उस की जिंदगी कामयाब हो गई.

सबकुछ सही चल रहा होता है कि अचानक उस की जिंदगी में भूचाल आ जाता है. उसे पति से अलग होना पड़ता है. तब रोजमर्रा के खर्च उस के सामने कई सवाल खड़े करते हैं. वह अपने बचपन के म्यूजिक के शौक को आमदनी का जरीया बनाने का फैसला लेती है.

कुछ समय बाद पति से तलाक हो जाता है और उस का म्यूजिक का कैरियर शुरू हो जाता है. ‘बेबी डौल…’ गाने के हिट होने के बाद से मुझे पीछे मुड़ कर देखने की जरूरत नहीं पड़ी.

मेरे पति ही मेरे साथ धोखाधड़ी कर रहे थे. मुझे बेइज्जत कर रहे थे. मैं ने अपनी शादी की 10वीं सालगिरह पर उन से तोहफे के तौर पर कहा कि मुझे डायमंड नहीं चाहिए, मुझे अपना एक गाना रेकौर्ड करना है. उन्होंने हां कह दिया. मैं ने एक संगीतकार को पकड़ा और काम शुरू किया.

इसी बीच पता चला कि मेरे पति एक पाकिस्तानी और वह भी शादीशुदा औरत के साथ समय बिताते हैं.  एक दिन वह औरत मेरे सामने आई और उस ने मुझ से कहा कि हिम्मत है, तो अपने पति को मुझ से दूर ले जाओ. मैं ने उस औरत के पति से भी बात की, पर बात नहीं बनी. इस के बाद मेरे और मेरे पति राज के बीच हर दिन झगड़े होने लगे. मेरा स्टूडियो जाना बंद हो गया.

फिर एक दिन मेरे एक दोस्त ने मुझे सलाह दी कि सूफी गीत ‘जुगनी जी…’ का रीमिक्स गाया जाए. मैं ने वह किया और उसे यूट्यूब पर डाल दिया.

यूट्यूब पर इस गाने के आ जाने के बाद मेरे कैरेक्टर पर हमला बोला गया. अफवाह फैलाई गई कि मैं अपने अंकल की उम्र के शख्स के साथ डेटिंग कर रही हूं. सोशल मीडिया के मेरे दोस्तों ने मुझ से कन्नी काट ली.

मैं ने उस वक्त बहुतकुछ सीखा. मेरे पति ने मेरे सामने तलाक का प्रस्ताव रख दिया. मजबूरन मुझे तलाक स्वीकार करना पड़ा. उस के बाद एकता कपूर ने ‘बेबी डौल…’ गाने के लिए बुलाया और एक नई राह बन गई.

आप की शादी के बाद की शुरुआती जिंदगी तो अच्छी रही होगी?

जी हां, शादी के चंद साल ही अच्छे गुजरे थे. हम लंदन के सैंट्रल पार्क में बहुत बड़े घर में रहते थे. हमारे पास धन, शोहरत सबकुछ था. मेरी जिंदगी में यह सबकुछ इतनी जल्दी मिला था कि मैं कुछ समय तक अपने पति की ज्यादती सहती रही. उन्होंने मान लिया था कि मुझे ये सारी सुविधाएं दे कर सताने का हक पा लिया है. मगर तलाक से पहले के 2 साल में मैं ने बहुतकुछ सीखा और उस ने मेरी जिंदगी बदल कर रख दी.

आज मैं शादी के बाद वाली कनिका नहीं हूं. अब मैं लंदन में एक छोटे से मकान में अपने एक बेटे व 2 बेटियों के साथ रहती हूं.

आप ने कम उम्र में ही म्यूजिक को अपना कैरियर बनाने का फैसला क्यों ले लिया था?

देखिए, उस वक्त म्यूजिक मेरा शौक था, पेशा नहीं बना था. शादी के बाद अपनी वैवाहिक जिंदगी को खुशहाल बनाए रखने के लिए और परिवार वालों की इच्छा की इज्जत करते हुए म्यूजिक छोड़ दिया था. मुझे इस में कुछ गलत भी नहीं लगा था. हर लड़की को शादी के बाद वही काम करना चाहिए, जो उस की ससुराल वालों को पसंद हो.

एक समय तक म्यूजिक के अलबमों की खूब बिक्री होती थी, पर अब तो म्यूजिक बिकता ही नहीं है? क्यों?

इस की 2 वजहें हैं. पहली बात तो यह कि अब म्यूजिक के क्षेत्र में तमाम लोग आ गए हैं. गायक और संगीतकारों की तादाद बड़ी तेजी से बढ़ी है, जिस का असर म्यूजिक पर पड़ना लाजिमी है. दूसरी बात यह है कि अब म्यूजिक भी डिजिटल हो गया है, जिस के चलते गायक अपने सिंगल गाने ही इंटरनैट वगैरह पर रिलीज कर रहे हैं. आखिर दर्शक क्याक्या सुनेगा और क्याक्या देखेगा?

आजकल जो औरतें अपनी जिंदगी में काफी उतारचढ़ाव से गुजर रही हैं, उन्हें कोई संदेश देना चाहेंगी?

औरतें खुद को कम न आंकें. लोगों की दकियानूसी बातों को नजरअंदाज कर अपने मुकाम की ओर बढ़ते रहना चाहिए. हमारे देश में एक औरत के हर कदम पर लोग बहुत जल्दी फैसला सुनाने लगते हैं, पर वह उस औरत की लगन और मेहनत की ओर नहीं देखते.

पहले आप मौडलिंग भी करती थीं. अब मौडलिंग कर रही हैं या नहीं?

मैं ने पहले ही कहा है कि मैं आमदनी के लिए इस ढंग के भी कुछ काम कर लिया करती थी, पर अब सारा ध्यान म्यूजिक पर है. मैं ने ज्यादातर मौडलिंग रैंप शो में की है और वह भी गायिका के तौर पर.

प्राइवेट म्यूजिक अलबम को ले कर कोई योजना है?

मैं एक प्राइवेट म्यूजिक अलबम की तैयारी कर रही हूं, जिस में डांस को ध्यान में रख कर गीत होंगे. कुछ सूफी गीत भी होंगे.

आप सिंगल मदर हैं. आप के बच्चे लंदन में रहते हैं और आप मुंबई में. ये सब कैसे मैनेज करती हैं?

मेरे माता पिता व भाई की मदद से सबकुछ मुमकिन हो पा रहा है. अगर मुझे मेरे परिवार की मदद न मिलती, तो मैं यह सब न कर पाती.