टीम इंडिया की कप्तान मिताली राज ने महिला वनडे क्रिकेट में इतिहास रच दिया है. 2017 महिला विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 34वां रन बनाते ही 34 वर्षीया मिताली महिला क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाली बल्लेबाज बन गई हैं. मिताली ने 69 रनों की पारी खेली और 114 गेंदों की इस पारी में उन्होंने चार चौके व एक छक्का जमाया.

मिताली राज ने इंग्लैंड की पूर्व कप्तान चार्लोट एडवर्ड्स को पीछे छोड़ा, जिन्होंने 191 मैचों में 23 बार नाबाद रहते हुए 5992 रन बनाए थे. मिताली वहीं मिताली ने सिर्फ 183 वन-डे की 162 पारियों में 48 बार नाबाद रहते हुए 6028 रन बना लिए हैं.

इसके साथ-साथ मिताली वनडे क्रिकेट में 6000 रन पूरे करने वाली पहली महिला क्रिकेटर भी बन गईं हैं. मिताली ने अपनी 164वीं वनडे पारी में अपने 6000 रन पूरे किए.

भारतीय खिलाड़ियों की बात करें तो मिताली राज ने एम एस धोनी और सचिन तेंदुलकर से तेजी से 6000 रनों का आंकड़ा छुआ है. धोनी ने 167 और सचिन तेंदुलकर ने 170 पारियों में वनडे में 6000 रन पूरे किए थे.

मिताली राज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार अर्धशतकीय पारी खेली. मिताली राज का ये वनडे में 49वां अर्धशतक है. वहीं वर्ल्ड कप में मिताली राज ने 10वां अर्धशतक जमाया. वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा अर्धशतक जमाने की लिस्ट में मिताली अब तीसरे नंबर पर आ गई हैं.

आइए एक नजर डालते हैं मितली राज के रिकार्ड्स पर.

लगातार 7 अर्ध शतक का रिकॉर्ड

मिताली ने महिला वर्ल्डककप 2017 टूर्नामेंट के दौरान लगातार सात वनडे में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था. इस वर्ल्ड कप से पहले खेले गए 6 लगातार मैचों में मिताली ने 70*, 64, 73*, 51*, 54 और 62* की पारी खेली थी. जिसके बाद उनकी 7वीं अर्धशतकीय पारी इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप के पहले मैच में आई थी. जब उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 71 रनों की पारी खेली थी.

183 वनडे में कुल 6028 रन

मिताली राज ने अब तक 183 वनडे मुकाबले में 51.52 की औसत से 6028 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 5 शतक और 49 अर्धशतक जड़े. वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 114 रन है.

सबसे अच्छा औसत

मिताली दुनिया की उन महिला क्रिकेटरों में से हैं, जिनका वनडे में औसत 50 से भी अधिक का है. 100 से अधिक वनडे खेलने वालीं क्रिकेटर्स में दुनिया में सबसे अच्छा औसत 51.81 मिताली का है.

शतकीय पारी में रहीं नॉट आउट

मिताली ने वनडे क्रिकेट में अब तक पांच शतक जड़े हैं और इन सभी पारियों में वो नॉट आउट रही हैं.

पहले ही वनडे में जड़ा शतक

अपने पहले ही अंतरराष्ट्रीय वनडे में मिताली ने शतक बनाने का कारनामा किया था. 1999 में उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 114 रनों की पारी खेली. वो अपने पहले ही वनडे में शतक लगाने वाली पांच महिला क्रिकेटरों में से एक हैं.

सबसे कम उम्र में ठोका शतक

6. मिताली के नाम सबसे कम उम्र में वनडे में शतक लगाने का भी रिकॉर्ड है. 16 साल 205 दिनों की उम्र में मिताली का बनाया गया यह रिकॉर्ड आज भी कायम है.

चौथी बार वर्ल्ड कप में शामिल

मिताली राज बतौर खिलाड़ी चौथी बार वर्ल्ड कप में शामिल हो रही हैं. मिताली की कप्तानी में 2005 में भारतीय महिला क्रिकेट टीम फाइनल तक पहुंची जहां उन्हें ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा.

मिताली के नाम है टेस्ट क्रिकेट का दूसरा सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर

मिताली राज ने अब तक कुल 10 टेस्ट मैचों में 51 की औसत से 663 रन बनाए हैं. इसमें एक शतक और चार अर्धशतक शामिल हैं. जबकि उनका सर्वाधिक स्कोर 214 रन रहा. यह टेस्ट क्रिकेट में दूसरा सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड भी है.

कप्तानी में भी बनाया रिकॉर्ड

2004 में मिताली 21 साल की उम्र में भारतीय महिला टीम की सबसे युवा कप्तान बनी थीं. तब से अब तक वो 100 मैचों में भारत की कप्तानी कर चुकी हैं. जो कि भारत में किसी भी महिला क्रिकेट कप्तान के लिए रिकॉर्ड है. साल 2006 में मिताली की ही कप्तानी में भारत ने इंग्लैंड को उसी की धरती पर टेस्ट सीरीज में मात दी थी.

एशिया कप में मिली जीत

मिताली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने 2005 से 2008 के बीच 3 एशिया कप में जीत हासिल की. मिताली के नेतृत्व में ही 2005 वनडे वर्ल्ड कप में भारत ने अब तक का श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए दूसरा स्थान हासिल किया था.

सर्वकालीन श्रेष्ठ खिलाड़ी का अवॉर्ड

मिताली का नाम विजडन ने 'क्रिकेट की 5 सर्वकालीन श्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक' के तौर पर शुमार किया है. क्रिकेट में हर सुनहरा पल देख चुकीं मिताली का बस एक ही सपना अब तक अधूरा है. वो है महिला क्रिकेट में भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाना.