सरिता विशेष

कोई अगर आपसे कहे कि अब आपकी उम्र हो चली है, आपकी त्वचा से आपकी उम्र का पता चलने लगा है, अब आप में वो बात नहीं रही तो कितना बुरा लगता है न? और फिर आप मन ही मन सोचने लगते हैं कैसे हाथ से फिसलती उम्र को थामा जाए. क्योंकि खुद को सदा जवान दिखाने की चाहत हर किसी में होती है, लेकिन हैरानी की बात है कि आज के आधुनिक जमाने में जब हेल्थी और फिट रहने के सभी साधन मौजूद हैं, फिर भी लोग उम्र से पहले बुजुर्ग या अपनी उम्र से अधिक के दिखने लगे हैं. आइये जानते हैं ऐसे कौन से  कारण हैं जिनसे युवाओं में बुढ़ापा जल्दी आ रहा है और इस से कैसे बचा जा सकता है.

पौष्टिक और संतुलित भोजन खाएं

Video Feature : फोर्ड के साथ लीजिए कुंभलगढ़ यात्रा का मजा

डाईटिशियन गीतू अमरनानी का मानना है कम उम्र में अधिक उम्र का दिखने का एक मुख्य कारण जंक फूड को नियमित दिनचर्या में शामिल करना है. आप ने एक ही जगह बैठ कर ढेर सारा जंक फ़ूड पिज़्ज़ा पास्ता नूडल्स खा लिए, लेकिन अपनी जगह से इंच भर भी नहीं हिले तो तो यह आपको उम्र से पहले बूढा बनाएगा. अपने इस लाइफ स्टाइल को बदलें और दिनभर कुछ न कुछ खाते रहने की आदत छोड़ दें. भूख लगने पर ही भोजन करें और जंक फ़ूड की बजाय पौष्टिक और संतुलित भोजन करें. साथ ही जितनी भूख हो, उससे थोड़ा कम खाएं. सीजन के फल व सब्जियों का सेवन अवश्य करें. इसके अलावा त्वचा को यंग बनाए रखने के लिए भरपूर मात्रा में पानी ज़रूर पियें. जब आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो डेटॉक्सिफिकेशन नही हो पाता है, जिससे त्वचा सांस लेना बंद कर देती है और  35 की उम्र का व्यक्ति  भी 40-45 का दिखने लगता हैं.

फल खाएं जवान दिखें

आप हम ऊपरी तौर पर त्वचा पर कितने भी कॉस्मेटिक्स प्रयोग कर ले, लेकिन त्वचा की भीतरी खूबसूरती को बनाये रखने के लिए जरुरी है कि आप की त्वचा भीतर से स्वस्थ हो. कोई भी  त्वचा  बीमार, थकी हुई और असमय बूढ़ी तभी दिखती है जब आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है. ऐसे में पौष्टिक और संतुलित आहार की मदद से आप बढ़ती उम्र की निशानियों को काफी हद तक कम कर सकते हैं. गीतू अमरनानी का मानना है कि फलों में मौजूद ज़रूरी एंटीआक्सिडेंट्स त्वचा को हर दम जवां बनाये रखने में सक्षम होते हैं. जब हम दैनिक आहार में फलों को शामिल करते हैं तो त्वचा पर निखार आता है. क्योंकि फलों में मौजूद कैल्शियम, मैगनीशियम, विटामिन सी, आयरन, बीटा कैरोटीन और फ़ोलिक एसिड और बहुत कम मात्रा में मौजूद कैलोरीज़ त्वचा को हेल्दी और ग्लोइंग बनाये रखने में मदद करते हैं. खट्टे फल जैसे नींबू और संतरे में मौजूद विटामिन सी कोलाजन बनाने में मदद करता है और कोलाजन त्वचा के लिए प्रोटीन बनाता है. जिस से झुर्रियां कम दिखती हैं.

स्मोकिंग और अल्कोहल से बनायें दूरी

स्मोकिंग और अल्कोहल के सेवन से भी सेहत पर विपरीत असर पड़ता है. धूम्रपान से त्वचा खुश्क होती है और चेहरे पर झुर्रियां पड़ती हैं, शरीर में विटामिन सी का स्तर भी घटता है, इन ख़राब आदतों के साथ ही यदि हफ्ते में दो घंटे से कम शारीरिक व्यायाम किया जाए तो ये दुष्प्रभाव और बढ़ जाते हैं. इन बुरी आदतों के शिकार लोग या तो अपनी उम्र से 12 साल कम जीते हैं या फिर ऐसे लोग अपनी वास्तविक उम्र से 12 साल अधिक के लगते है.

व्यायाम को बनायें दिनचर्या का हिस्सा

आज के युवा एक ही जगह घंटो बैठकर काम करते हैं, जिसके  कारण उन्हें  कमर दर्द, स्पांडीलिसिस की परेशानी होने लगती है. रिसर्चर्स ने पाया है कि एक्सरसाइज करके वक्त से पहले बूढ़ा होनेवाली प्रक्रिया से बचा जा सकता है और साथ ही अनहेल्दी फूड के कारण होने वाले हानिकारक प्रभावों से भी बचा जा सकता है. दरअसल, आप दिन भर में जितनी कैलोरी लेते है उसे बर्न करना भी जरूरी होता है इसका सबसे सरल उपाय एक्सरसाइज हैं.

ब्यूटी स्लीप

ये बात तो शोधों में भी साबित हो चुकी  हैं कि गहरी नींद की कमी के कारण उम्र बढ़ने की प्रक्रिया तेज होती है और वे लोग जो पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं उनकी चयापचय प्रणाली पर असर पड़ता है. 6  घंटे से कम नींद लेने से त्वचा पर झुर्रियां हो जाती हैं और चेहरे से आपकी उम्र बड़ी लगने लगती है. जबकि भरपूर नींद त्वचा में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ा देती हैं, जो आपकी त्वचा के लिए जरुरी प्रोटीन होता हैं और ये त्वचा को कई फायदे पहुंचाता है. अब तो आप समझ गए होंगे ब्यूटी स्लीप अपने आप में एक बेहतरीन ब्यूटी ट्रीटमेंट है.

से नो टू स्ट्रेस

नीदरलैंड्स के वैज्ञानिकों ने एक शोध में पाया है कि वे लोग जो ज्यादा टेंशन लेते है उनके ब्रेन का ब्लड सर्कुलेशन ज्यादा कांसन्ट्रेट हो जाता है और वहां ब्लड की मात्रा ज्यादा हो जाती है और ज्यादा प्रेशर पडऩे से लोग उम्र के अधिक दिखने लगते हैं. इसके अतिरिक्त ज्यादा स्ट्रेस की वजह से शारीरिक क्षमताओं पर भी बुरा असर पड़ता है और सेल्स में एजिंग की प्रक्रिया भी तेज हो जाती है. इसलिए क्रोध, चिंता, तनाव, भय, घबराहट, चिड़चिड़ापन, ईर्ष्या जैसे भावनाओं को त्यागें और हमेशा खुश रहने का प्रयास करें और उम्र को अपने ऊपर हावी होने से रोकें.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं