फैशन फिएस्टा के रूप में मशहूर अदाकारा सोनम कपूर बतौर अभिनेत्री अभी तक अपनी कोई खास पहचान नहीं बना पायी हैं. अब तक के अभिनय करियर में यदि ‘‘रांझणा’’ को छोड़ दें, तो वह किसी भी फिल्म में अपनी अभिनय क्षमता को साबित नहीं कर पायी है. ‘रांझणा’ के बाद जब उनकी फिल्म ‘‘बेवकूफियां’’ बाक्स आफिस पर बुरी तरह से असफल हुई, तो सोनम कपूर ने इस फिल्म की असफलता का सारा ढीकरा पी आर कंपनी ‘‘स्पाइस’’ के सिर फोड़ा था. लेकिन उसके बाद ‘खूबसूरत’ भी असफल रही. यह एक अगल बात है कि सोनम कपूर ने कभी भी ‘खूबसूरत’ को असफल नहीं माना. इसके बाद उनकी फिल्म ‘‘डॉली की डोली’’ने भी निर्माता को  नुकसान पहुंचाया. सूत्रों की माने तो कम बजट वाली फिल्म ‘‘डॉली की डोली’’ से इसके निर्माता को साढ़े सात करोड़ रूपए का नुकसान हुआ था. फिर ‘प्रेम रतन धन पायो’ आयी, जिसमें उनके साथ सलमान खान थे, पर यह फिल्म भी अपनी लागत के अनुरूप बाक्स आफिस पर धन नहीं जुटा पायी.

अब सभी की निगाहें 19 फरवरी को रिलीज होने वाली सोनम कपूर की फिल्म ‘‘नीरजा’’ पर है. बालीवुड में फिल्म ‘‘नीरजा’’ को सोनम कपूर की अग्निपरीक्षा के तौर पर देख जा रहा है. सोनम कपूर के पास ‘नीरजा’ के अलावा कोई दूसरी फिल्म नहीं है. और न ही उन्हे किसी नई फिल्म का आफर ही मिला है. यहां तक उनकी बहन रिया कपूर और पिता अनिल कपूर होम प्रोडक्शन के तहत बनने वाली फिल्म ‘‘बैटल फार बिठोरा’’ की शूटिंग पिछले दो वर्ष से टालते आ रहे हैं. सूत्रों की माने तो ‘‘बैटल फार बिठोरा’’ की शूटिंग शुरू करने का फैसला बाक्स आफिस पर फिल्म ‘‘नीरजा’’ को मिलने वाले रिस्पांस को देखने के बाद ही लिया जाएगा.

महज 23 साल की उम्र में मौत की नींद सुला दी गयी ‘पैन एशिया’’ उड़ान की एअर होस्टेस नीरजा भानोट की जिंदगी पर बनी बायोपिक फिल्म ‘‘नीरजा’’ में सोनम कपूर ने नीरजा भानोट का किरदार निभाया है. सोनम कपूर दावा कर रही हैं कि नीरजा भानोट की मां स्व.रमा भानोट ने उन्हे देखकर कहा था कि वही उनकी बेटी नीरजा के किरदार में फिट हैं. मगर बौलीवुड में चर्चाएं गर्म हैं कि नीरजा भानोट के बारे में जो जानकारी है, नीरजा जिस तरह की लड़की थी, वह सब फिल्म ‘नीरजा’ के ट्रेलर या प्रोमो को देखकर सोनम कपूर के अभिनय में नजर नहीं आ रहा है. जब प्लेन के अंदर अपहरणकर्ता घुस गए थे, उस वक्त नीरजा के चेहरे पर डर के साथ उसकी प्रवृत्ति के अनुरूप अपने कर्तव्य को निडरता के साथ निभाने का जो भाव होना चाहिए, उसका अभाव ट्रेलर में नजर आता है.

सूत्रों की माने तो फिल्म ‘‘नीरजा’’ के बाक्स आफिस परिणाम को लेकर भी बौलीवुड के ट्रेड पंडित बंटे हुए नजर आ रहे हैं. मजेदार बात तो यह है कि यदि खुदा न खास्ता यदि फिल्म ‘‘नीरजा’’ बाक्स आफिस पर असफल हो जाए, तो उससे सोनम कपूर को अछूता रखने के लिए अभी से सोनम कूपर के नजदीकियों ने वजहें फैलाना शुरू कर दिया है.

सूत्रों के अनुसार अब बौलीवुड का एक हिस्सा यह कह रहा है कि ‘‘नीरजा’’ को ऑस्कर अवार्ड की वजह से बाक्स आफिस पर परेशानी झेलनी पड़ सकती है. वास्तव में ‘‘नीरजा’’19 फरवरी को रिलीज हो रही है और फरवरी माह का तीसरा सप्ताह ऑस्कर अर्वाड का सप्ताह रहेगा. इस सप्ताह में ऑस्कर के लिए नामित फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी. 28 फरवरी को ऑस्कर अवार्ड के विजेताओं के नाम घोषित होंगे. नीरजा के नजदीकी लोगो की माने तो फरवरी के तीसरे व चौथे सप्ताह में मुंबई के अलावा दिल्ली, गुड़गांव, कोलकत्ता व मद्रास के कई मल्टी प्लैक्स ऑस्कर नामित फिल्में प्रदर्शित करेंगें, जिसका खामियाजा ‘‘नीरजा’’ को भुगतना पड़ेगा. तर्क देने वाले तो यह तर्क भी दे रहे हैं कि इस समय तमाम लोग सिनेमाघरों में जाने की बजाय घर पर टॉरेंट से डाउनलोड करके अपने लैपटॉप या कम्प्यूटर पर ऑस्कर नामित फिल्में देखना चाहेंगे.

इतना ही नहीं सोनम के अति नजदीकी सूत्रों के अनुसार 19 फरवरी को ‘नीरजा’ के साथ ही पांच अन्य फिल्में रिलीज होंगी, इसलिए भी दर्शक बंटेंगे. यानी कि यदि फिल्म ‘‘नीरजा’ बाक्स आफिस पर न चले, तो उसके श्रेय से सोनम कपूर को बचाने के सारे हथकंडे अभी से अपनाए जा रहे हैं. मगर इस तरह कब तक सोनम कपूर अपनी पहचान एक बेहतरीन अदाकारा की बजाय फैशनिष्ट के रूप में बनाते हुए बौलीवुड में टिकी रह सकती हैं. इसके अलावा अब जिस तरह से दर्शक बदल रहा है, जिस तरह से सोनम कपूर की फिल्में लगातार असफल हो रही हैं और आज की तारीख में उनके हाथ में एक भी फिल्म न होने से जो हालात पैदा हुए हैं, उन हालातों में यह कहना गलत नहीं होगा कि फिल्म ‘‘नीरजा’’ सोनम कपूर के लिए सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा है.