आने वाले वक्त में फ्री डेटा मिलना बंद हो सकता है. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण 21 जुलाई को सभी दूरसंचार कंपनियों के साथ वायस और डाटा शुल्कों के लिए ‘न्यूनतम मूल्य’ पर चर्चा करेगा. कुछ कंपनियां इसकी मांग कर रही हैं.

खत्म हो जाएंगी मुफ्त सेवाएं

मौजूदा दूरसंचार कंपनियों का एक वर्ग डाटा और वॉयस कॉल्स के लिए ‘न्यूनतम कीमत’ निर्धारित करने की मांग कर रहा है लेकिन क्रियान्वित करने का मतलब होगा कि बाजार में मुफ्त में दी जा रही सेवाएं समाप्त हो जाएंगी.

न्यूनतम मूल्य को लेकर पूछी जाएगी राय

इसके अलावा अभी तक ऑपरेटरों को दरें तय करने की आजादी है और उन्हें किसी प्लान की जानकारी ट्राई को उसे पेश करने से सात दिन पहले देनी होती है. ऐसे में न्यूनतम मूल्य तय होता है तो इस व्यवस्था में भी बदलाव होगा. नियामक ऑपरेटरों से दरों पर न्यूनतम फ्लोर मूल्य को लेकर उनकी राय पूछेगा और साथ ही ऑपरेटरों से इस तरह की दर तय करने का गणित भी पूछा जाएगा.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...