कई बार हम मोबाइल की बैटरी लाइफ से परेशान होकर नया फोन लेते हैं पर कुछ ही समय बाद उसकी बैटरा से भी परेशान होने लगते हैं. ये समस्या आम है और इससे निजात पाने के लिए अब तक आपने तरह-तरह के उपायों के बारे में जाना, सुना और पढ़ा होगा. लेकिन कई बार हमारी खराब आदतों के चलते हमें इस तरह की समस्या का सामना करा पड़ता है. जी हां, घर पहुंचते ही अपने फोन को चार्ज पर लगा देना और अगले दिन सुबह तक उसे चार्ज करते रहना, या फिर फोन चार्जिंग में लगाकर उसका इस्तेमाल करने जैसी आदतों की वजह से ही हमारें फोन में बैटरा की लाइफ को लेकर समस्या आने लगती है. इसलिए हमें अपने फोन की बैटरी लाइफ सुधारने के लिए पहले अपनी आदतों को सुधारना होगा.

अपने फोन को ज्यादा गर्म होने से बचाएं

स्मार्टफोन का ज्यादा गर्म होना लिथियम इयान बैट्रीज के लिए बेहद ही खतरनाक है. आपको अपने फोन को सीधे धूप से बचाना चाहिए. दिन में ड्राइव करते वक्त कार के डैशबोर्ड पर मोबाइल को छोड़ना खतरे से खाली नहीं है.

चार्जिंग के वक्त फोन का इस्तेमाल नहीं करें

चार्जिंग के वक्त फोन के इस्तेमाल से बचना चाहिए. तकनीकी तौर पर इसे पैरासाइटिक चार्जिंग कहते हैं. हाई ग्राफिक्स वाले गेम्स खेलते वक्त फोन को चार्ज करने से भी बचना चाहिए. क्योंकि फोन को ऐसे इस्तेमाल करना बेहद ही घातक साबित हो सकता है.

नकली चार्जर का इस्तेमाल नहीं करें

फोन को चार्ज करने के लिए कंपनी द्वारा दिए गए चार्जर का ही इस्तेमाल करें. अगर आपके फोन में क्विक चार्जिंग का फंक्शन है तो ऐसा करना बेहद ही अहम हो जाता है. एक मोबाइल कंपनी का कहना है कि हाई कैपिसिटी चार्जर आपकी बैटरी को चंद मिनटों में 70 फीसदी तक चार्ज तो कर देंगे, लेकिन यह आप्टमाइज्ड न हो तो बैटरी को नुकसान भी हो सकता है.

झटपट चार्ज करने के लिए थर्ड पार्टी चार्जर्स के इस्तेमाल से बचें. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप कौन सा फोन इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन 50,000 रुपये के स्मार्टफोन के लिए सड़क किनारे से खरीदे 50 रुपये वाले चार्जर का इस्तेमाल करने का कोई तुक नहीं बनता. इससे बैटरी को तो नुकसान पहुंचता ही है और संभव है कि यह किसी दुर्घटना का कारण भी बन जाए.

शून्य और 100, ये कोई जादूई आंकड़ा नहीं

आपको अपने नए फोन को पूरी तरह से चार्ज करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जब आप उसे खरीदते हैं तब उसकी बैटरी पहले से ही चार्ज होती है. आप सीधे इसका इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं, एक बार जब बैटरी खत्म हो जाए तो फिर उसे पूरी तरह चार्ज कर लें.

वहीं, दूसरी तरफ अगर संभव हो तो आप अपने फोन की बैटरी को पूरी तरह से खत्म नहीं होने दें. जैसे ही आपके फोन में सिर्फ 10 फीसदी बैटरी बची हो उसे चार्ज पर लगा दें. इससे बैटरी की लाइफ बढ़ती है.

Tags:
COMMENT