विदेश में बसी विनी के ‘भारतीय’ होने पर जेड ऊलजलूल बकती पर वह नजरअंदाज कर देती. लेकिन छुट्टियां मनाने भारत गई विनी के मन में भारतीय सरजमीं पर खड़ी जेड को देख कर अनगिनत सवाल उठ खड़े हुए.

जून का मौसम अपनी पूरी गरमाहट से  स्टे्रटफोर्ड के निवासियों का स्वागत करने आ गया था. उस ने यहां पर जिन पेड़ों को बिलकुल नग्न अवस्था में देखा था, वे अब विभिन्न आकार के पत्तों से सुसज्जित हो हवा में नृत्य करने लगे थे. चैरी के पेड़ों पर फूलों के गुच्छे आने वाले को अपनी ओर आकर्षित तो कर ही रहे थे, अपनी छाया में बिठा कर विश्राम भी दे रहे थे.

Tags:
COMMENT