उस चिड़िया के बच्चे की करण जीजान से देखभाल कर रही थी पर बाकी सभी लोगों को उस के इस व्यवहार पर हंसी आ रही थी. क्या यह उस का पागलपन था कि वह उस तुच्छ से चिडि़या के बच्चे को इतना महत्त्व दे रही थी या वास्तव में जीव प्रेम.

Tags:
COMMENT