कहानी के बाकी भाग पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजी को देखते ही चारों तरफ मे कौवे की तरह सब कांवकांव करने लगे, परंतु  सुशीलाजी के बदले हुए तेवर देख कर चाहे कुंवरपाल हो, चाहे सुनैना हो, सब की बोलती बंद हो गई थी.

पंडितजी शायद बेटे का ही इंतजार कर रहे थे. बेटे को देख कर तसल्ली से उन की आंखें बंद हो गई थीं. उन की जीवनलीला समाप्त हो चुकी थी.

घर में कर्मकांड को ले कर गरमागरम बहस चालू हो गई.

शिव को न ही समाज के ठेकेदारों की परवाह थी और न ही रिश्तेदारों के बकवास की.... जीजा कुंवरपाल और सुनैना जीजी ने भरसक कोशिश की  सनातन रीतिरिवाज से मृतक की आत्मा की शांति के लिए पिंडदान और अन्य क्रिया भाई शिव करे, परंतु वह अपने निर्णय पर अटल रहा. उस ने तीन दिन के अंदर शांति पाठ और हवन कर के अनाथालय में बच्चों को भोजन करवा कर इस कार्यक्रम की समाप्ति कर दी.

शिव के आने के बाद घटनाएं इतनी तेजी से घटी थीं कि वह दुकान पर अपना ध्यान नहीं दे पा रहा था.

दुकान का तो बुरा हाल हो  चुका था. न ही कोई  ढंग से  हिसाबकिताब था और न ही लिखापढ़ी, क्योंकि पापा महीनों से दुकान आते नहीं थे, इसलिए कुंवरपाल ने दोनों हाथों से लूट मचा रखी थी.

सब से पहले उस ने स्टाक लिया. उस ने एक एकाउंटेंट रखा और कई कैमरे लगवा कर अपने फोन के साथ अटैच कर लिया. अब वह घर में रह कर दुकान पर भी अपनी नजर रख सकता था.

जब कुंवरपाल ने ज्यादा नाटक फैलाया, तो उस ने साफ शब्दों में कह दिया कि यह घर और दुकान पर मेरा भी हक बनता है, इसलिए मेरे हिसाब से रहना होगा, नहीं तो आप दोनों को अपना बोरियाबिस्तर समेट कर अपने गांव जाना होगा...

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...