पाकिस्तानी क्रिकेट को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान और ख्याति दिलाने वाले हरफनमौला खिलाड़ी इमरान खान नियाजी की तीसरी शादी भी टूटने के कगार पर है. कुछ दिन पहले इमरान ने बुशरा मनेका से शादी की थी. अभी सलीके से हनीमून भी संपन्न नहीं हुआ था कि बुशरा इमरान का घर छोड़ कर चली गईं जिस की वजह बड़ी दिलचस्प यानी इमरान खान के पालतू कुत्ते थे जिन की वजह से बुशरा नमाज वगैरह ढंग से नहीं पढ़ पा रही थीं और इमरान अपने पेट्स की अनदेखी की शर्त पर बुशरा से कोई समझौता करने के लिए तैयार नहीं थे. बुशरा का प्रचलित नाम पिंकी पीर है और उन की यह दूसरी शादी है, पहले पति से उन की 5 संतानें हैं.

पहली 2 शादियों के तलाक में तबदील होने से अवसाद में डूबे इमरान अब हैरान हैं कि क्या करें, कल तक जो बुशरा उन के प्रधानमंत्री बन जाने की भविष्यवाणी किया करती थीं वे भी पहली 2 पत्नियों की तरह 65 साल की पक्की उम्र में दिल तोड़ कर और घर छोड़ कर चली गईं तो अब लोग इमरान में ही खोट ढूंढ़ रहे हैं जो कतई हैरानी की बात नहीं.

तीसरी बीवी के भी घर छोड़ कर जाने पर इमरान की दूसरी पत्नी टीवी एंकर रेहम खान ने जम कर उन पर तंज कसे. बकौल रेहम, इमरान और बुशरा का अफेयर तो तभी से चल रहा था जब वे इमरान की पत्नी थीं यानी शादी कर बीवियों को छोड़ देना इमरान की आदत में शुमार है. हालांकि एक चर्चा यह भी है कि इस अलगाव की वजह पालतू कुत्ते नहीं, बल्कि इमरान की बहनें हैं जो जरूरत से ज्यादा भाई की निजी जिंदगी में दखल देती रही हैं यानी लड़ाई ननदभौजाई की थी जिस का इलाज आज तक कोई नहीं ढूंढ़ पाया.

टैस्ट क्रिकेट में 70-80 के दशक में इमरान की तूती इंगलैंड के इयान बौथम और भारत के कपिल देव से कहीं ज्यादा बोलती थी. वे एक निहायत ही स्मार्ट, सैक्सी और स्टाइलिश खिलाड़ी हुआ करते थे. 88 टैस्ट मैचों में 3,807 रन बनाने वाले इमरान के खाते में 362 विकेट भी दर्ज हैं. क्रिकेट में कई रिकौर्ड बनाने वाले इमरान ने साल 1992 में क्रिकेट से संन्यास लिया तो उन का झुकाव राजनीति में हो गया और उन्होंने अपनी अलग पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ बना डाली. इमरान संसद तक पहुंचे पर राजनीति में उम्मीद और अपनी शोहरत के मुताबिक कामयाब नहीं हो पाए.

कामयाब तो वे 3 शादियों के बाद भी नहीं हो पाए, तो सोचना लाजिमी है कि बुढ़ापे में तीसरी शादी करने की तुक क्या थी. रेहम से उन की पटरी पूरे 1 साल भी नहीं बैठी थी. पहली पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ से इमरान ने साल 2004 में तलाक ले लिया था. इस तलाक की वजह यूरोप की खुली आबोहवा की आदी जेमिमा को पाकिस्तानी माहौल में घुटन हो रही थी.

इमरान खान लंदन में पढ़े हैं और अर्थशास्त्र उन का पसंदीदा विषय रहा है. वे खेतीकिसानी के भी शौकीन हैं और मवेशी पाल कर भी पैसा कमाते रहे हैं. क्रिकेट कमैंट्री में भी वे कभीकभी नजर आ जाते हैं. इस के बाद भी एकएक कर 3 पत्नियां उन का साथ छोड़ गईं तो तय है इमरान का समय खराब नहीं बल्कि औरत को पांव की जूती समझना इस की वजह है. उन की तीनों पत्नियां खुले विचारों और आजादखयाल थीं और सार्वजनिक जीवन में भी सक्रिय थीं जो कट्टरवादी सोच के गुलाम इमरान को पसंद नहीं आया तो यह तो होना ही था.

अब डर इस बात का है कि शादियों और फिर तलाक के आदी हो चले इमरान बुशरा को तलाक देने के बाद कहीं चौथी शादी न कर बैठें. हालांकि अपनी गुरुपत्नी के चले जाने के बाद वे स्वीकारने लगे हैं कि बैचलर लाइफ ही बेहतर होती है. ऐसा शायद इसलिए कि शादीशुदा जिंदगी वे निभा नहीं पाए.

COMMENT