किसी शायर ने क्या खूब कहा है कि - कुछ तो मजबूरियां रही होंगी, यूं कोई बेवफा नहीं होता... सच है कि नाजायज या समाज में गलत मानी जाने वाली चीजों की ओर इन्सान किसी न किसी मजबूरी में ही उन्मुख होता है, वरना बदनामी ओढ़ने का शौक भला किसे होता है? कहीं न कहीं कोई न कोई कमी जरूर होती है, जिसकी भरपाई इन्सान गलत तरीके से करने की कोशिश करता है. ‘मैं, तुम और वो’ में ‘वो’ उस कमी को पूरा करता है जो ‘मैं’ और ‘तुम’ के बीच पैदा हो गयी है. हाल ही में एक्स्ट्रा मैरिटल डेटिंग ऐप ‘ग्लीडेन’ ने एक सर्वे रिपोर्ट जारी करते हुए खुलासा किया है कि दस में से सात शादीशुदा महिलाएं किसी न किसी रूप में पति को धोखा देती हैं. यह सर्वे भारतीय युगल के बीच हुआ है, जिसमें पांच लाख से अधिक लोग शामिल हुए. ‘महिलाएं अडल्टरी या व्यभिचार क्यों करती हैं’ शीर्षक से हुए इस सर्वेक्षण में यह बात सामने आयी है कि बेंगलुरु, मुंबई और कोलकाता में ऐसी  महिलाओं की संख्या सबसे अधिक है, जो पति के अलावा भी किसी अन्य पुरुष के प्रति या तो आकर्षित हैं, या उनके साथ मानसिक, शारीरिक या भावनात्मक सम्बन्ध में हैं. इस सर्वे में 5 लाख भारतीय ग्लीडन यूजर्स में से 20 फीसदी पुरुषों और 13 फीसदी महिलाओं ने अपने जीवनसाथी को धोखा देने की बात स्वीकार की है. कई महिलाएं अपने पति को सिर्फ इसलिए धोखा देती हैं क्योंकि उनकी शादी नीरस हो गयी है तो कुछ इसलिए क्योंकि पति उनके घरेलू कामों में उनका हाथ नहीं बंटाते हैं. हालांकि इस सर्वेक्षण से यह खुलासा भी हुआ है कि बाहरी पुरुष या बाहरी स्त्री के साथ सम्बन्ध बनने के बाद दम्पत्ति का आपसी सौहार्द और शादीशुदा जिन्दगी ज्यादा अच्छी हो गयी है. यही नहीं, शादी से बाहर एक साथी को खोजने से उन्हें अपने जीवन में उत्साह का अहसास हुआ है. सर्वे में दस में से चार महिलाओं का मानना है कि अजनबियों के साथ मौजमस्ती के बाद उनके जीवनसाथी के साथ उनका रिश्ता और अधिक मजबूत हुआ है.

Tags:
COMMENT