उत्तर प्रदेश से गायब हुए बच्चे का पांच साल के बाद जब असम में होने का पता चला तो माता – पिता के आंखों में खुशी के आंसू आ गए. कितनी खुशी हुई होगी उन्हें कि उनके जिगर का दुकड़ा मिल गया जिसे पाने की उम्मीद वो खो बैठे थे. उस मां की सूनी हुई कोख एक बार फिर से भर गई. लेकिन ऐसा एक ऐप के जरिए हुआ जिसने एक खोए हुए बच्चे को उसके माता- पिता से मिला दिया. दरअसल तेलंगाना पुलिस ने उत्तर प्रदेश से पांच साल पहले लापता हुए एक बच्चे के चेहरे की पहचान की और जिस ऐप की मदद से ये पहचान हो पाई उसका नाम है ‘दर्पणह्ण’ इसे दर्पण भी कहते हैं. तेलंगाना पुलिस ने बताया कि इस बच्चे की पहचान कर उन्होंने बड़ी कामयाबी हासिल की है. दरअसल उस बच्चे का नाम सोम सोनी है और यह बच्चा 14 जुलाई 2015 में प्रयागराज के हंडिया में लापता हो गया था. उसके परिवार ने उसे ढ़ूढ़ने की काफी कोशिश लेकिन वो नहीं मिला कुछ समय बाद तो परिवार ने भी मान लिया कि शायद अब उनका बच्चा उन्हें कभी नहीं मिलेगा.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT