बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें जेल जाने के बाद भी खत्म नहीं हो पा रही. इस बार मुश्किल चारा घोटाले से संबंधित कानूनी काररवाई से नहीं बल्कि अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को ले कर है जिन्होंने 6 महीने पूर्व हुई शादी को खत्म करने के लिए अदालत का रूख कर तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर दी है.

तलाक की अर्जी दाखिल करने के बाद मीडिया में खबर आते ही लोगों में उत्सुकता बढ़ गई कि आखिर क्या वजह रही होगी कि इतने कम समय में ही तलाक का फैसला लेना पड़ा. सियासी परिवारों में आमतौर पर घर की लड़ाईझगडे को बाहर नहीं आने दिया जाता. वजह इस से जनता में गलत मैसेज जाता है, दूसरा देश की राजनीति इतनी गंदी हो चुकी है कि सियासी फायदे के लिए विपक्षी पार्टी निजी जीवन पर भी कटाक्ष करने से नहीं चूकतीं.

Tej Pratap Yadav files divorce case against Aishwarya Rai

मंत्री भी रह चुके हैं

यों तेज प्रताप खुद पिछली सरकार में मंत्री रह चुके हैं. पिता लालू प्रसाद यादव और माता राबड़ी देवी बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और हाल ही में उपचुनाव में राष्ट्रीय जनता दल ने कई सीटों पर जीत दर्ज की है.

ऐसा नहीं है कि तलाक कोई अजूबा चीज है जिसे इस से पहले किसी ने नहीं लिया मगर चूंकि यह बिहार के बड़े सियासी घराने को लेकर था, लिहाजा मीडिया में मसालेदार खबर बन गई. वह भी तब जब लगभग 2 महीने पहले सियासी गलियारों से यह चर्चा आम थी कि तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या आगामी विधानसभा या लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं.

बड़े राजनीतिक परिवार से हैं ऐश्वर्या

इस की वजह भी है क्योंकि ऐश्वर्या खुद मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद यादव की नतिनी और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय की पुत्री हैं. 6 माह पुरानी यह शादी बड़ी धूमधाम से की गई थी और इस शादी में शिरकत करने बडे नाम और ओहदेदार वाले आए थे.

छपरा से चुनाव लड़ने की थी संभावना

ऐसी चर्चा थी कि आगामी लोकसभा में ऐश्वर्या को छपरा लोकसभा सीट से राष्ट्रीय जनता दल के टिकट से लड़ाया जाएगा. पार्टी के स्थापना दिवस पर बिहार के मुख्य सड़कों पर लगे बड़े बड़े होर्डिंग्स में ऐश्वर्या की फोटो इस बात की पुष्टि भी कर रहे थे. मगर कानूनी रूप से ऐसा साल 2020 तक मुमकिन नहीं था. वजह अगले लोकसभा चुनाव तक ऐश्वर्या की उम्र 25 साल नहीं होगी. 10वीं की सर्टिफिकेट के मुताबिक ऐश्वर्या की जन्मतिथि 10 फरवरी 1995 है.

हालांकि चुनाव आयोग वोटर लिस्ट में दर्ज जन्मतिथि को भी वैध मानता है और यह खबर चल रही थी कि इस तोड़ के आधार पर ऐश्वर्या को छपरा संसदीय सीट से लड़ाया जा सकता है.

मनाने की कोशिश जारी

हालांकि बड़े भाई और भाभी की लड़ाई की खबर मिलते ही तेजस्वी यादव जो तेज प्रताप के छोटे भाई हैं और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री भी रह चुके हैं तुरंत घर पहुंचे और मामले को शांत कराने की कोशिश की. मगर तेज प्रताप इस से पहले कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल कर चुके थे.

खबरों के अनुसार उधर, लालू प्रसाद यादव खुद नहीं चाहते कि दोनों में तलाक हो क्योंकि इस से परिवार का नाम खराब होगा और विपक्ष सियासी फायदे लेने से चूकेंगे नहीं.

बहरहाल, इन की निजी जिंदगी पर भी लोग चटखारे लेले कर कहानी गढ़ते रहेंगे और मीडिया में मसालेदार खबर बनती रहेगी. पर सवाल आखिर यह जरूर है कि ऐसी क्या वजह रही होगी जो 6 महीने पुरानी शादी टूटने के कगार पर आ गई?

COMMENT