राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष और भाजपा सांसद अनुसुइया ऊइके  अपनी टीम सहित कुछ आदिवासी इलाकों का दौरा कर भोपाल आईं तो झल्लाई हुईं और बेहद गुस्से में थीं. मीडिया के सामने उन्होंने बिना किसी लिहाज के अपनी ही सरकार को आड़े हाथों लेते कहा कि आदिवासियों की हालत बेहद चिंताजनक है, उनके कल्याण के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं में भारी भ्रष्टाचार हो रहा है, आदिवासी इलाकों के स्कूलों में पढ़ाने के लिए शिक्षक नहीं हैं और सबसे ज्यादा चिंता और खतरे की बात आदिवासियों को पीने के लिए साफ पानी न मिलना है.

COMMENT