रामायण सीरियल में राम का किरदार निभाने बाले अरुण गोविल को कोई 33 साल बाद याद आया कि उन्हें अभी तक किसी सरकार ने सम्मान नहीं दिया है  . 62 साल के हो चले अरुण मेरठ से मुंबई गए तो अपने भाई के कारोबार में हाथ बंटाने थे लेकिन जल्द ही उन्हें गलतफहमी हो आई थी कि वे तो बने ही फिल्मों के लिए हैं लिहाजा कोशिश करने पर कुछ फिल्में मिलीं जो उन्हीं की तरह सी ग्रेड की थीं लेकिन थोड़ी बहुत चली सिर्फ एक जिसका नाम था सावन को आने दो . यह फिल्म बड़जात्या केंप की थी इसलिए इसका चलना लाजिमी था पर अरुण गोविल को फिल्म इंडस्ट्री में हाथों हाथ नहीं लिया गया था .

COMMENT