एक लड़की और एक लड़का साइबर कैफे के काउंटर पर पहुंचते हैं. लड़के की उम्र 18 से 20 साल के बीच की होगी. लड़की ने दुपट्टे से अपना चेहरा ढक रखा है. लड़का भी कैप और बड़ा सा काला चश्मा लगाए हुए है. काउंटर पर बैठा शख्स उन्हें देख मुस्कुराता है और पूछता है- कितने घंटे? लड़का कहता है- ‘एक घंटा. उसके बाद लड़का अपने पौकेट से 100 रूपए का नोट उसे थमाता है. जोड़ा छोटे से कमरे में दाखिल हो जाता है और अंदर से किवाड़ बंद हो जाता है. काउंटर पर बैठा आदमी जोड़े से न तो पहचान पत्र मांगता है और न ही रजिस्टर में उनका नाम और पता दर्ज करता है, जबकि आईटी एक्ट के तहत यह जरूरी है. हर कैफे के नोटिस बोर्ड पर तो पहचान पत्र का फोटो कौपी जमा करने, पोर्न साइट नहीं देखने और न डाउनलोड करने की हिदायत तक लिखी रहती है, लेकिन उस पर शायद ही अमल किया जाता हो.

COMMENT