फैस्टिव सीजन में कई सैक्टर फलफूल रहे हैं जबकि औटो कंपनियों पर मंदी का असर बना हुआ है. मांग में कमी की वजह से मारुति, टाटा और अशोक लीलैंड जैसी औटो कंपनियों को अपने उत्पादन में कटौती करनी पड़ी है. बिक्री में बीते एक साल से लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. डीलरशिप और कारखानों में बड़े पैमाने पर जमा वाहनों की वजह से औटो कंपनियों को कारखाना उत्पादन बंद करने को मजबूर होना पड़ा है.

Tags:
COMMENT