देश के धार्मिक ट्रस्टों व मंदिरों में सोने को लेकर विवाद सदियों से रहे है.प्राचीन इतिहास में धर्म व सत्ता का गठजोड़ रहा है और धर्म ही राजाओं को राजा होने व सत्ता चलाने की मान्यता देते थे.मौर्यकालीन इतिहास का अध्ययन करते है तो कुछ धार्मिक शास्त्र उनको क्षेत्रियों के रूप में लिखते है तो कुछ क्षुद्रों के रूप में.

Tags:
COMMENT