दिल्ली में हुई हिंसा ने हम सबको हिला कर रख दिया. लोगों के सामने दिल्ली की खुशनुमां तस्वीरें अब बदरंग हो चुकी थी. जगह जगह हिंसा की तस्वीरे, रोने बिलखने की तस्वीरें, खाक हुए मकां और हिंसा के सुबूत. इसके अलावा और कुछ भी नहीं था. कल तो जो दिल्ली दिल वालों की कहलाती थी चंद घंटों में उसकी तस्वीर ही बदल गई. अब वो दिल्ली दिल वालों की नहीं बल्कि दंगाइयों को हो चुकी थी.

Tags:
COMMENT