तमिलनाडु की कपास घाटी कहे जाने वाले कई जिलों में गरीब, दलित और आदिवासी लड़कियों से पढ़ाई के नाम पर कपड़ा मिलों में मजदूरी कराई जा रही है. इन लड़कियों का 10वीं और 12वीं कक्षाओं में नामांकन करा कर इन्हें मिलों में स्थित होस्टलों में रखा जाता है और उन से मिल में काम लिया जा रहा है.

सितंबर में सलेम जिले के न्यू बसस्टैंड पर एक बस से करीब एक दर्जन लड़कियां उतरीं तो चाइल्डलाइन के एंटी टै्रफिकिंग दस्ते ने उन्हें रोका और बाल कल्याण समिति के सामने पेश कर जब उन से पूछताछ की गई तो इस बात का खुलासा हुआ कि इन लड़कियों को पढ़ाई के नाम पर कपड़ा मिलों में रख कर इन से मजदूरी कराई जा रही है. शुरुआती जांच में लड़कियों ने बताया कि वे कोयंबटूर की एक कपड़ा मिल में 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ रही हैं.

कपड़ा मिल में पढ़ाई की बात सुन कर कल्याण समिति के अध्यक्ष ने जब पूछताछ की तो मालूम हुआ कि वे वास्तव में कपड़ा मिल में काम कर रही हैं और गैरकामकाजी समय में मिल के छात्रावास में पढ़ाई कर रही हैं. अब वार्षिक छुट्टियों में अपने घर जा रही हैं.

दरअसल, पश्चिमी तमिलनाडु के कोयंबटूर, सलेम, तिरुपुर, करूर, इरोड, नमक्कल, डिंडुगल जिलों को कौटन वैली यानी कपास घाटी कहा जाता है. इन जिलों की कपास कपड़ा मिलों में मुख्यरूप से गरीब, अशिक्षित, दलित, आदिवासी लड़कियों को एजेंटों के माध्यम से रोजगार के लिए लाया जाता है.

लेबर सप्लाई का खेल

यह स्थिति उसी तरह की है जैसे दिल्ली व अन्य शहरों के लिए झारखंड जैसे राज्यों से कामवाली के तौर पर लड़कियां दलालों द्वारा सप्लाई की जाती हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...