बुलंदशहर दंगे में हिन्दूवादी संगठनों का नाम आने के बाद पुलिस प्रशासन बैकफुट पर आ चुका है. भारतीय जनता पार्टी सहित हिन्दू संगठनों से जुड़े लोग पूरे मामले में भीड़ के हमले के लिये पुलिस को ही दोषी साबित करने में जुट गये हैं.

पुलिस के आला अफसर हिन्दूवादी संगठनों का नाम लेने के औचित्य नहीं समझ रहे. जांच कर रहे अफसर कह रहे हैं कि जब तक एसआईटी की जांच नहीं होती किसी के खिलाफ कोई काररवाई नहीं होगी.

Tags:
COMMENT