पश्चिमी उत्तर प्रदेश एक बार फिर सुलग उठा है. इस बार मुजफ्फरनगर की जगह बुलंदशहर निशाने पर है. बुलंदशहर में फैली हिंसा किसी एक दिन की घटना का अंजाम नहीं है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गौ रक्षा के नाम पर धर्मिक सौहार्द को बिगाड़ने का काम लंबे समय से चल रहा है. चुनाव करीब देख कर पहले से धधक रहे माहौल में चिंगारी लगाने का काम बुलंदशहर की घटना ने किया है.

Tags:
COMMENT