अकसर मातापिता तलाक लेते समय और इस प्रक्रिया के दौरान बच्चों से बातचीत करने से बचते हैं. जिस का उस पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है और इस सदमे से वे कई बार ताउम्र डिस्टर्ब रहते हैं. थेरैपिस्ट, एजुकेटर और लेखक एलिसन जोंस कहती हैं कि अपने बच्चों से तलाक संबंधी बातों को न छिपाएं, उलटा उन से खुल कर बात करें. हो सकता है उस समय वह नाराज या निराश दिखें लेकिन भविष्य में मातापिता के संबंध विच्छेदन की इस पीड़ा से उबर जाएंगे.

COMMENT