भ्रम उलझन पैदा करता है. कैरियर के चयन में यह अवरोधक का काम करता है. इस की वजह से व्यक्ति अपना लक्ष्य तय नहीं कर पाता. यह व्यक्ति को डरपोक व लापरवाह बना देता है. आज बहुत से युवा कैरियर चयन के मामले में खुद को एकाग्रचित्त नहीं कर पाते. ‘यह करूं या वह करूं, नौकरी करूं या व्यापार करूं, यह कोर्स करूं या वह करूं’ जैसी भ्रम वाली स्थिति में फंसे रहते हैं.

COMMENT