राफ्टिंग के रोमांचक खेल के जानलेवा पहलू को दरकिनार करने वाले यह भूल जाते हैं कि यह खेल सरकारी सुस्ती और बदइंतजामियों के चलते अब तक कइयों की जान ले चुका है.

सुबह का वक्त था. अखबार पढ़तेपढ़ते मेरी नजर एक खबर पर जा कर ठहर गई. खबर थी कि 4 छात्रों की मौत ऋषिकेश में गंगा नदी में डूबने से हो गई. वे नदी की डरावनी लहरों के बीच ‘रिवर राफ्टिंग’ करने के लिए गए थे. चौंकाने वाली बात यह थी कि उन की मौत का न कोई जिम्मेदार था और न ही उन के शव ही बरामद हुए थे. मरने वाले छात्रों में विशाल, निश्चिंत, पंकज व प्रशांत शामिल थे. सभी हरियाणा प्रांत के रहने वाले थे. उन में से एक इंजीनियरिंग कालेज का छात्र था. मृतकों समेत 7 छात्रों का दल उत्तराखंड राज्य की पर्यटक नगरी ऋषिकेश घूमने के लिए गया था कि तभी 12 अप्रैल को यह हादसा घटित हो गया.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT