सवाल

मैं 26 वर्षीय विवाहिता हूं. मेरी शादी को 2 साल हो चुके हैं. पति बहुत अच्छे हैं. परंतु मेरी एक ननद है जो रंगरूप में मुझ से कहीं ज्यादा खूबसूरत है. मैं उसे अपनी बहन जैसी मानती हूं. उस का व्यवहार मेरे प्रति अच्छा नहीं है. कभी मजाकमजाक में वह मुझे काली बोलती है तो कभी मोटी. मैं ने उसे कई बार टोका, परंतु वह मेरी बात नहीं समझती. अब तो लगता है कि किसी दिन उसे 2 थप्पड़ लगा दूं. मैं अपने गुस्से पर काबू करना चाहती हूं, पर समझ नहीं आता कि क्या करूं. पति को मैं इन सब में ढकेलना नहीं चाहती और सासससुर सब जानते हुए भी कुछ कहते नहीं. बताएं कि मैं क्या करूं?

ये भी पढ़े- मैं ने अपने पति को अपने पुराने प्रेमी के बारे में पहले बताया था. पिछले कुछ समय से मेरे पति मुझ पर यकीन नहीं 

जवाब

बहुत घरों में इस तरह के विशेषणों का प्रयोग हर किसी के लिए किया जाता है, यहां तक कि मातापिता भी अपने खुद के बच्चों के लिए करते हैं. यह आदत बन जाती है. आप की ननद का 21वीं सदी में जीते हुए आप को काली या मोटी कह कर पुकारना और आप के रंगरूप से आप को नीचा दिखाना बेहद शर्मनाक है. पर यदि घर वाले समझदार होते तो शायद वह न कहती. इस स्थिति में आप पहल करें, ननद को ही नहीं, सभी को आदर दें. सब से सभ्य शब्दों में बात करें. हो सकता है वे समझ जाएं. थप्पड़ मारना या लड़ाईझगड़ा करना किसी भी तरह से सही नहीं है. यह घटिया तरीका है. पूरे घर को अपने दर्द का एहसास अपने सही शब्दों से कराएं.

ये भी पढ़े- मेरी पत्नी मुझ पर नामर्दी का आरोप लगा कर अपने प्रेमी के साथ भाग गई है. मेरे पास सरकारी रिपोर्ट है कि मैं नामर्द नहीं 

Tags:
COMMENT