सवाल

मैं 26 वर्षीय नवयुवक हूं. नैशनल लौ यूनिवर्सिटी से लौ की डिग्री पूरी करने के बाद अब एक बड़ी लौ कंपनी में ऐसोसिएट के रूप में काम कर रहा हूं. अकसर देर रात तक काम करना होता है, जिस से मेरी स्लीप क्लौक बिगड़ गई है. बिस्तर में लेटने पर भी देर तक नींद नहीं आती. दिनभर की घटनाएं दिमाग में छाई रहती हैं. कृपया कुछ ऐसे व्यावहारिक उपाय बताएं जिन से कि मुझे फिर से पहले जैसी बढ़िया नींद आने लगे.

जवाब

सच दुनिया में नींद जैसी प्यारी दूसरी कोई चीज नहीं. उस के आगोश में सिर रखने से मनमस्तिष्क ताजगी से भर उठता है, शरीर स्फूर्त हो जाता है और जब सुबह आंख खुलती है तो रंगों में नई उमंग अंगड़ाई ले रही होती है. वयस्क जीवन में 6 से 8 घंटे की नींद अच्छी सेहत और लंबी उम्र के लिए जरूरी है.

आप की यह विवशता है कि आप को देर रात तक काम करना पड़ता है. अच्छी नींद के लिए ये उपाय आजमाना लाभकारी हो सकता है:

तनाव की दुनिया पीछे छोड़ आएं: नींद आने के लिए जरूरी है कि मन शांत हो. उस पर किसी चीज का बोझ न हो. दफ्तर से लौटने के बाद मौजमस्ती करें, मन को खुला छोड़ दें, ताकि दिन भर का तनाव दूर हो जाए.

मन में शांति के स्वर जगाएं:  सोने से पहले कुछ ऐसा करें कि भीतर सुखशांति के स्वर गूंजने लगें. चाहें तो कोई रिलैक्सिंग म्यूजिक सुनें, कोई पुस्तक या पत्रिका पढ़ें और फिर जब पलकें भारी होने लगें तब सो जाएं.

टीवी और कंप्यूटर नींद के साथी नहीं: सोने से पहले देर रात तक टीवी देखना या कंप्यूटर पर काम करना नींद में बाधक बन सकता है. इन के तेज प्रकाश से मस्तिष्क का सर्किट जाग्रत अवस्था में चला जाता है. मीठी नींद पाने के लिए सोने से घंटा डेढ़ घंटा पहले इन्हें बंद कर दें.

ये भी पढ़ें- मैं शादीशुदा हूं और 2 बच्चे हैं. लेकिन अभी भी मैं अपने पुराने प्रेमी से मिलती हूं. कृपया सलाह दें, मुझे क्या करना चाहिए?

हलका भोजन ही ठीक: सोने से पहले हलका भोजन लेने में ही अच्छाई है. पेट ऊपर तक भरा हो और शरीर उसे पचाने में लगा हो तो भला नींद कैसे आ सकती है.

चाय और कौफी से बचें: देर शाम में चाय और कौफी पीने से भी नींद भाग सकती है. इन में मिली कैफीन मस्तिष्क को आराम नहीं लेने देती.

स्नान करें: बिस्तर में जाने से 1 घंटा पहले स्नान करने से शरीर की सिंकाई हो जाती है और पेशियां रिलैक्स हो जाती हैं. यह थकान दूर करने का आसान उपाय है.

योगनिद्रा है तनावमुक्ति की उमदा दवा: सोने से पहले कुछ मिनट योगनिद्रा में बिताने से विशेष रूप से लाभकारी साबित हो सकते हैं. ऐसा करने से शरीर और मनमस्तिष्क शांत अवस्था में पहुंच जाते हैं और आसानी से नींद आ जाती है.

सोच रचनात्मक रखें. दिन में कुछ समय व्यायाम के लिए भी जरूर निकालें. वजन पर कंट्रोल रखें. जहां तक हो सके सोने का समय तय कर लें. यह सब करने पर यकीनन आप फिर से पहले जैसी मीठी नींद का सुख पाने लगेंगे.

ये भी पढ़ें- मेरे शरीर के कई हिस्सों पर स्ट्रैच मार्क्स हो गए हैं. मैं क्या करूं?

Tags:
COMMENT