गरीब और मजदूर कंही रेल गाड़ी की पटरी पर सोते हुए ट्रैन के नीचे आ कर कट जा रहे है, तो कंही सड़क पर किसी बड़े वाहन के नीचे कुचल जा रहे, कंही भूख और प्यास से रास्ते मे ही दम तोड़ दे रहे. कई बार घर पहुचते पहुचते इस हालत के हो जाते है की वँहा पहुँच कर जान गंवा दे रहे. मज़दूरो की हालत बताती है कि देश और प्रदेश की सरकारों को उनकी कोई चिंता नहीं है.

Tags:
COMMENT