नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर टकराव आमने सामने है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जहां एक तरफ केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह 21 जनवरी को रामकथा पार्क में समाजिक संगठनों की एक बड़ी सभा करने जा रहे हैं वही लखनऊ के चैक इलाके घंटाघर पर सीएए और एनआरसी के विरोध में धरना चल रहा है. इसमें बड़ी संख्या में महिलायें और बच्चे हिस्सा ले रहे हैं. यह एक तरह से दिल्ली के शाहीनबाग जैसा धरना चल रहा है. आन्दोलन करने वाले पार्क में धरना दे रहे हैं. जिला प्रशासन ने शहर में धारा 144 लगाकर धरने को खत्म कराने का प्रयास किया. धरना देने वालों और उनका समर्थन करने वालों को अलग अलग तरह से रोकने का काम भी किया जा रहा है इसके बाद भी धरना जारी है.

Tags:
COMMENT