अपने अच्छे दिनों यानि सियासी कैरियर के शबाब के दौर में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्गज कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने कितनों की ज़िंदगी बनाई और बिगाड़ी है इसकी सही  संख्या तो वे खुद भी नहीं बता सकते इसलिए नहीं कि पकी उम्र के चलते उनकी याददाश्त कमजोर हो चली है बल्कि इसलिए कि इसकी जरूरत अब खत्म हो चली है. दिग्विजय सिंह को कांग्रेस ने उस लोकसभा सीट भोपाल से अपना उम्मीदवार घोषित किया है, जहां से वह पिछले  30 सालों से जीत के लिए तरस रही है. भोपाल देश की उन इनी गिनी सीटों में से एक है जहां खुद कांग्रेस आलाकमान ने लाल निशान लगा रखा है और भाजपा ने भगवा झण्डा गाड़ रखा है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT