जीवन के अंतिम समय पर गौदान के सहारे सारे पाप धो कर नये जन्म के लिये तैयार होने की परंपरा पुरानी है. हिन्दू धर्म में इसका अपना बड़ा महत्व है. अब उत्तर प्रदेश सरकार गाय को ही केन्द्र में रखकर चुनावी वैतरणी पार करना चाहती है. गाय और दूसरे छुट्टा जानवरों को लेकर गांव और शहर में व्यापक अंसतोष है. ऐसे में केवल गाय के संरक्षण केन्द्र खोलने से परेशानी का हल नहीं होगा. जिस स्तर पर गाय के ‘संरक्षण केन्द्र’ खोलने की जरूरत है वह ‘कांजी हाउस’ का नाम बदलने से पूरा नहीं होगा.

Tags:
COMMENT