प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी कांग्रेस की आलोचना से बाहर आ ही नहीं पा रहे हैं और मजेदार बात यह है कि उन्होंने लंबे भाषण में जो कुछ कहा जैसा कांग्रेस को निचोड़ने का प्रयास किया. दरअसल, नरेंद्र दामोदरदास मोदी का कहन  कांग्रेस पार्टी के बजाय भाजपा को ज्यादा लागू होता है.

आइए! आप भी देखिए पढ़िए समझिए कि आखिर नरेंद्र मोदी कांग्रेस की आलोचना से बाहर क्यों नहीं आ पा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- चुनाव और प्रलोभन: रोग बना महारोग

कोरोना प्रबंधन पर सफेद झूठ

नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में हुंकार भरी-" हमने श्रमिकों को जाने के लिए मुफ्त टिकट दिया, लोगों को अपने ठिकाने जाने के लिए प्रेरित किया."

अब यह सारा देश जानता है कि सोना लॉकडाउन में किस तरह लोग भूखे प्यासे तड़पते हुए अपने अपने ठिकानों तक पहुंचे थे और सिर्फ ₹500 किसी किसी खाते में डाल कर के आप ने अपना फर्ज निभा लिया था.

नरेंद्र दामोदरदास मोदी कहा कि आपने बड़ा पाप किया है.  कोरोना काल के बाद दुनिया एक नई व्यवस्था की तरफ बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है. भारत को इस अवसर को गंवाना नहीं चाहिए. आजादी के अमृत महोत्सव' के बाद देश जब आजादी के 100 साल मनाएगा, तब तक हम सामर्थ्य से, पूरी शक्ति एवं पूरे संकल्प से देश को उच्चतम स्तर पर लेकर पहुंचेंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज विभाजनकारी मानसिकता "कांग्रेस" के डीएनए में घुस गई है. और कांग्रेस की नीति ' बांटो और राज करो' की बन गई है. उन्होंने कहा 'अंग्रेज चले गए लेकिन बांटो और राज करो की नीति को कांग्रेस ने अपना चरित्र बना लिया है. इसलिए ही आज कांग्रेस टुकड़े टुकड़े गैंग की लीडर बन गई है.  कांग्रेस की सत्ता में आने की इच्छा खत्म हो चुकी है, उसे लगता है कि जब कुछ मिलने वाला नहीं है तो कम से कम बिगाड़ दो, कांग्रेस आज इसी दर्शन पर चल रही है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT