जब बिहार और पश्चिम बंगाल सहित देश के तमाम राज्यों के मजदूर सडकों पर भूखे प्यासे मर रहे थे तब पार्टी स्तर पर भाजपा ने आगे बढ कर इनके लिये किसी सुविधा का काम नहीं किया. अब जब वोट लेने का वक्त आ रहा है तो करोडों के बजट से भाजपा वर्चुअल रैलियां कर रही है.

Tags:
COMMENT