खबर वाकई में अच्छी है कि छतीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने शराब पीना छोड़ दिया है और अब वे चाहते हैं कि आदिवासी बाहुल्य इस राज्य में शराबबंदी लागू की जाये. देखा जाये तो यह बयान बताता है कि सही मानों में अब वे नेता बन रहे हैं नहीं तो इस आईएएस अधिकारी को चाणक्य कहे जाने वाले नेता अर्जुन सिंह राजनीति में लाये थे. मकसद था शुक्ला बंधुओं को हाशिये पर धकेलना, क्योंकि आदिवासी समुदाय के अजीत जोगी ही अर्जुन सिंह की राह आसान कर सकते थे जो कि उन्होंने की भी.

Tags:
COMMENT