पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव ने भाजपा को करारी चोट पहुंचाई है, जिसका दर्द लम्बे समय तक बना रहेगा और इसका असर अलगे साल कई अन्य राज्यों में होने वाले चुनाव पर भी दिखेगा, खासकर उत्तर प्रदेश के चुनाव पर.

बंगाल में चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा के तमाम बड़े नेता सिर्फ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर ही पिले रहे. बंगाल की बेटी के लिए वहां के मंच से प्रधानमंत्री मोदी का बार बार 'दीदी ओ दीदी' जैसा कटु और व्यंगात्मक सम्बोधन बंगाल की जनता को कतई रास नहीं आया.

Tags:
COMMENT